कोरोना वायरस:चीन और अमेरिका एक दूसरे पर साध रहे निशाना..कौन सी चर्चाएं हो रहीं हैं..जानें..!

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच पूरे विश्व में कई तरह की चर्चाएं हो रहीं हैं..चीन से फैले इस वायरस को लेकर अंतराष्ट्रीय स्तर पर क्या कुछ कहा जा रहा है..पढ़े युगान्तर प्रवाह की एक रिपोर्ट।

कोरोना वायरस:चीन और अमेरिका एक दूसरे पर साध रहे निशाना..कौन सी चर्चाएं हो रहीं हैं..जानें..!
प्रतीकात्मक फ़ोटो साभार गूगल

डेस्क:पूरा विश्व इस समय कोरोना वायरस को लेकर चिंतित है।लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अलर्ट घोषित किया गया है।भारत में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 83 हो गई है।भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या 2 हो गई है। (corona virus bilogical weapon)

ये भी पढ़े-कोरोना का ख़तरा:भारत में कोरोना वायरस से दूसरी मौत..राजधानी में..!

चीन और अमेरिका एक दूसरे पर साध रहे निशाना..
कोरोना को लेकर इस समय कई तरह की चर्चाएं हो रहीं हैं।कुछ लोग इसे चीन के जैविक हथियार के रूप में देख रहे हैं।जिसको वुहान शहर की एक लैब में तैयार किया जा रहा था लेक़िन वहाँ कुछ ऐसा हुआ जिससे यह वायरस वही ब्लास्ट हो गया।

बीते महीने वॉशिंगटन टाइम्स के रिपोर्टर बिल गेर्ट्ज़ को एक रेडियो शो ''वॉर रूम पैनडेमिक'' में बतौर गेस्ट बुलाया गया था जिसमें उन्होंने इस बात के संकेत दिए थे कि चीन जैव युद्ध प्रोग्राम के तहत एक वायरस बना रहा था।

Read More: Vishu Kya Hota Hai: विशु क्या होता है ? मलयाली इसे नववर्ष के रूप में क्यों मनाते हैं, श्री कृष्ण से जुड़ी है आस्था

ये भी पढ़े-कोरोना का कहर:यूपी में इस तारीख़ तक के लिए बन्द हुए सभी स्कूल कॉलेज..महामारी घोषित..!

Read More: Mp News Unique Marriage: 80 साल के बुजुर्ग की अनोखी प्रेम कहानी ! सोशल मीडिया के जरिये खुद से आधी उम्र की महिला से रचाई शादी

फॉक्स न्यूज़ ने भी इस थ्योरी का ज़िक्र किया और इसे आगे बढ़ाने का काम किया।एक आर्टिकल में फॉक्स न्यूज़ ने 1980 के दशक में लिखी गई एक किताब का ज़िक्र किया जिसने कथित तौर पर कोरोना वायरस का अंदाज़ा लगाया था।यह किताब चीनी सेना की उन लैब के बारे में है जो जैव हथियार बनाती हैं।

Read More: Vikram Samvat Hindu Nav Varsh 2024: विक्रम संवत की शुरुआत कब हुई? क्यों कहा जाता है इसे हिंदू नववर्ष

वहीं कोरोना वायरस की शुरुआत को लेकर चीन की तरफ़ से नई थ्योरी दी जा रही है।चीन के विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा है कि यह अमरीकी बीमारी है जो शायद अक्टूबर में चीन के वुहान में आए अमरीकी सैनिकों से फैली है।

ये भी पढ़े-कोरोना का ख़तरा:रद्द हुई भारत-अफ्रीका सीरीज़..आईपीएल भी हुआ स्थगित..!

हालांकि इस नई थ्योरी के समर्थन में कोई सबूत नहीं दिया गया है।कोरोना वायरस को लेकर अमरीकी सैनिकों पर आरोप चीन के विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता चाओ लिजियान ने ट्वीट कर लगाया है।कोरोना वायरस को लेकर अप्रमाणिक रूप से कई बातें पहले भी कही गई हैं।

इससे पहले अमरीकी सीनेटर टॉम कॉटन ने आशंका जताते हुए कहा था, ''संभव है कि कोरोना वायरस चीन का जैविक हथियार हो और इसे वुहान लैब में विकसित किया जा रहा हो।''

कॉटन ने कहा था, ''हमारे पास इस बात के सबूत नहीं हैं कि ये बीमारी यहीं पनपी है।लेकिन शुरुआत से ही चीन का जो रवैया और छल की भावना है उसे देखते हुए हमें एक ही सवाल पूछने की ज़रूरत है कि सबूत क्या कहते हैं और चीन फ़िलहाल उस सवाल पर कोई सबूत नहीं दे रहा।''

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur News Today: फतेहपुर के फूफा ने भतीजी से रचा ली शादी ! पत्नी ने ऐसा पीटा फूफा से निकल गया फू.. Fatehpur News Today: फतेहपुर के फूफा ने भतीजी से रचा ली शादी ! पत्नी ने ऐसा पीटा फूफा से निकल गया फू..
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) में रहने वाले एक फूफा ने अपनी बांदा (Banda) वाली भतीजी से कड़ा...
UP Fatehpur News: फतेहपुर में गंगा स्नान करने गए तीन युवक डूबे ! दो की हो गई मौ'त, परिजनों में मचा ह'ड़कंप
Fatehpur News: फतेहपुर की मोहिनी ने तोड़ दिया दम ! दो घंटे बिना इलाज के डॉक्टरों ने रोका, फिर किया रैफर
Fatehpur News Today: फतेहपुर के पिछड़े गांव का बेटा सेना में बना लेफ्टिनेंट ! किसान पिता के छलके आंसू
Pradeep Mishra Radha Rani Controversy: राधा रानी टिप्पणी पर फंसे कथावाचक प्रदीप मिश्रा ! Premanand Maharaj ने दिया करारा जवाब
NEET 2024 NTA Supreme Court Judgment In Hindi: नीट परीक्षा 2024 के लिए सुप्रीम कोर्ट ने दिया ये निर्णय ! अब बदल जाएगी मेरिट लिस्ट
Fatehpur News: फतेहपुर में नलकूप पर सो रहे किसान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत ! पास में पड़ीं थीं बोतले, शरीर नीला था

Follow Us