oak public school

जन्माष्टमी विशेष:अर्धरात्रि की पूजा में इन चीजों से जरूर लगाएं भोग.!

बुधवार को पूरे देश में बड़ी धूमधाम से जन्माष्ठमी का त्योहार मनाया जा रहा है..लड्डू गोपाल की विशेष पूजा और जन्म का उत्सव मध्य रात्रि में मनाया जाता है..पढ़ें युगान्तर प्रवाह की एक रिपोर्ट।

जन्माष्टमी विशेष:अर्धरात्रि की पूजा में इन चीजों से जरूर लगाएं भोग.!
श्री कृष्ण जन्मोत्सव।

डेस्क:पूरे देश में बुधवार को भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव बड़ी ही धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है।लोगों ने अपने अपने घरों में भगवान की सुंदर सुंदर झांकिया सजाई हैं।कृष्ण जन्म का मुख्य उत्सव मध्य रात्रि में मनाया जाता है।उस दौरान किस विधि विधान से पूजा करें आइए जानते हैं।

ये भी पढ़ें-श्री कृष्ण जन्माष्टमी 2020:जन्मस्थान मथुरा में आज जन्म लेंगे नटखट गोपाल..तैयारियां पूरी..!

भगवान श्रीकृष्ण को माखन मिसरी बहुत पसंद है। ऐसी कथा है कि जन्माष्टमी की रात कान्हा नें नंदगांव की कन्याओं को सपना दिया कि मुझे माखन चाहिए, सुबह-सुबह लोंगों को पता चला कि नंद के आनंद भयो है, कान्हा ने जन्म लियो है तो बधाई देने के लिए महिलाएं अपने साथ माखन लेकर आईं। नंद महाराज ने पूछा कि माखन क्यों लाए हो, महिलाओं ने कहा कि आपके लल्ला ने रात सपने में हमसे माखन मांगा है। कान्हा का माखन प्रेम तो जग प्रसिद्ध है। इसलिए पूजा में इन्हें जरूर रखा जाता है।

ये भी पढ़ें-जन्माष्टमी 2020:किस दिन मनाना श्रेष्ठ रहेगा..11 या 12 अगस्त..जानें शुभ मुहूर्त व विधि विधान..!

Read More: Chaitra Navratri Shailputri Mata: चैत्र नवरात्रि प्रारम्भ ! प्रथम दिन मां शैलपुत्री का करें विधि-विधान से पूजन ! समस्त संकट होंगे दूर, जानिए पौराणिक कथा

भगवान श्रीकृष्ण की जन्माष्टमी पूजा में साबूत खीरा को भगवान की मूर्ति और तस्वीर के सामने रखा जाता है। कहते हैं जब निशीथ काल में कान्हा की पूजा होती है उस समय खीरे में दरार आ जाना बहुत ही शुभ संकेत होता है। ऐसा माना जाता है कि भगवान का आगमन हुआ है, यह इसका संकेत है। अगर पूजा के दौरान ऐसा होता है तो समझ लीजिए भगवान की आप पर बड़ी कृपा हो गई है।

Read More: Jaya Ekadashi (2024) Kab Hai: कब है जया एकादशी ! शुभ मुहूर्त के साथ जानिए जया एकादशी की व्रत कथा का महत्व

ये भी पढ़ें-कोरोना:फतेहपुर में मंगलवार को एक दर्जन नए संक्रमितों की पुष्टि..!

Read More:  Magh Gupt Navratri 2024: जानिए कब से शुरू हो रही माघ 'गुप्त नवरात्रि'? कौन सी दस महाविद्याओं की उपासना का है महत्व, किस तरह से की जाती है मां की उपासना

जन्माष्टमी पूजा में कान्हा को मिट्टी के बर्तन में दही बनाकर भेंट करना चाहिए। कान्हा को माखन के अलावा दही भी बहुत प्रिय है।इस लिए मध्य रात्रि की पूजा में दही का भी भोग अवश्य लगाएं।

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Sitapur Daroga Suicide News: फतेहपुर निवासी सीतापुर में तैनात दारोगा ने खुद को गोली से उड़ाया ! एसपी चक्रेश मिश्रा कर रहे हैं जांच Sitapur Daroga Suicide News: फतेहपुर निवासी सीतापुर में तैनात दारोगा ने खुद को गोली से उड़ाया ! एसपी चक्रेश मिश्रा कर रहे हैं जांच
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सीतापुर (Sitapur) के मछरेहटा थाने में तैनात दारोगा मनोज कुमार (Manoj Kumar) ने सर्विस रिवाल्वर...
Kanpur Buddha Devi Temple: कानपुर में दो सौ साल पुराना ऐसा देवी मंदिर ! जहां मिठाई की जगह हरी सब्जियों का लगता है भोग
Kanpur Dehat News: पारिवारिक कलह के चलते 7 महीने के बच्चे की माँ ने उठाया खौफ़नाक कदम ! जिसे सुनकर सभी की आंखे हुई नम
Harisiddhi Mata Shaktipith: उज्जैन नगरी में सिद्ध शक्तिपीठ हरिसिद्घि माता के करें दर्शन, यहाँ माता के हाथ की गिरी थी कोहनी
Kashi Vishwanath Police Pujari: काशी विश्वनाथ मंदिर में पुजारी की वेशभूषा में ड्यूटी करेंगे पुलिसकर्मी ! सपा अध्यक्ष ने साधा निशाना
Fatehpur News Today: फतेहपुर में भाजपा नेता समेत दस के खिलाफ़ मुकदमा ! कोर्ट के आदेश पर कार्रवाई
Crime In Fatehpur: फतेहपुर में ईद के दिन खूनी खेल ! मटन की दुकान में शेर अली के सीने पर कई वार

Follow Us