Hariyali Teej Vrat Katha 2022: व्रत के साथ पूजन के समय जरूर पढ़ें यह हरियाली तीज व्रत कथा

सावन मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को हरियाली तीज का व्रत किया जाता है. यह व्रत कुँआरी लड़कियां मनचाहा वर औऱ सुहागिन महिलाएं पति की लंबी आयु के लिए निर्जला रखती हैं.इस दौरान भगवान शंकर औऱ पार्वती की पूजा होती है. आइए जानते हैं व्रत से जुड़ी यह कथा.. Hariyali Teej Vrat Katha In Hindi Hariyali Teej Vrat 2022

Hariyali Teej Vrat Katha 2022: व्रत के साथ पूजन के समय जरूर पढ़ें यह हरियाली तीज व्रत कथा
Hariyali Teej Vrat Katha 2022

Hariyali Teej vrat Katha In Hindi:सावन का पूरा महीना भगवान शंकर की पूजा उपासना के लिए श्रेष्ठ माना जाता है.कुंवारी लड़कियां मनचाहे वर के लिए सावन के सोमवार को व्रत रखती हैं. लेकिन इसके साथ साथ इस सावन माह में भगवान शंकर औऱ पार्वती की पूजा उपासना के लिए एक औऱ तिथि बड़ी महत्वपूर्ण मानी गई है. Hariyali Teej Ki Katha

हिन्दू पंचाग के अनुसार सावन मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को हरियाली तीज का व्रत होता है. इस दिन कुँवारी लड़कियां मनचाहे औऱ सुंदर वर के लिए निर्जला व्रत रखती हैं तो वहीं सुहागिन महिलाएं पति के लंबी उम्र औऱ उत्तम स्वास्थ्य के लिए इस व्रत का संकल्प कर भगवान शंकर औऱ पार्वती का पूजन ध्यान करते हैं. पूरे विधि विधान से पूजा करने के साथ ही हरियाली तीज की कथा का पाठ करना अत्यंत आवश्यक बताया गया है. आइए जानते हैं उस कथा के बारे. Hariyali Teej Vrat 2022

हरियाली तीज व्रत कथा. Hariyali Teej Vrat Katha In Hindi

माता पार्वती भगवान शंकर को ही अपने पति के रूप में पाना चाहती थीं औऱ इसके लिए वह कठोर तप करने लगीं. मां पार्वती ने कई वर्षों तक निराहार और निर्जला व्रत किया.एक दिन महर्षि नारद आए मां पार्वती के पिता हिमालय के घर पहुंचे और कहा कि आपकी बेटी पार्वती के तप से प्रसन्न होकर भगवान विष्णु उनसे विवाह करना चाहते हैं और उन्हीं का प्रस्ताव लेकर मैं आपके पास आया हूं. यह बात सुनकर हिमालय की खुशी का ठिकाना ना रहा और उन्होंने हां कर दिया. नारद ने संदेश भगवान विष्णु को दे दिया और कहा कि महाराज हिमालय का यह प्रस्ताव अच्छा लगा और वह अपन पुत्री का विवाह आपसे कराने के लिए तैयार हो गए हैं.

Read More: Holi Me Gobar badkulla Balle Ka Mahtva: जानिए होलिका दहन में गोबर के उपलों से बनी मालाओं का क्या है महत्व?

यह सूचना नारद ने माता पार्वती को भी जाकर सुनाया. यह सुनकर मां पार्वती बहुत दुखी हो गईं और उन्होंने कहा कि मैं विष्णु से नहीं भगवान शिव से शादी करना चाहती हूं. उन्होंने अपनी सखियों से कहा कि वह अपने घर से दूर जाना चाहती हैं और वहां जाकर तप करना चाहती हैं. इस पर उनकी सखियों ने महाराज हिमालय की नजरों से बचाकर पार्वती को जंगल में एक गुफा में छोड़ दिया. Hariyali Teej Vrat katha

Read More: Hema Malini Meet Premanand Maharaj: प्रेमानन्द महाराज के आश्रम पहुंची हेमा मालिनी ! जानिए प्रेमानन्द जी ने उन्हें क्या दी सलाह और कही बड़ी बात

यहीं रहकर उन्होंने भगवान शिव को पति रूप में पाने के लिए कठोर तप शुरू किया, जिसके लिए उन्होंने रेत के शिवलिंग की स्थापना की. माता पार्वती ने जिस दिन शिवलिंग की स्थापना की वह हस्त नक्षत्र में भाद्रपद शुक्ल तृतीया का ही दिन था. इस दिन निर्जला उपवास रखते हुए उन्होंने रात्रि में जागरण भी किया.

Read More: Premanand Maharaj Ji: प्रेमानन्द महाराज ने बताया, वाहनों पर भगवान का नाम लिखवाना सही है या गलत

मां पार्वती की कठोर तपस्या को देखकर भगवान शिव प्रसन्न हुए और उन्होंने मां पार्वती को मनोकामना पूर्ण होने का वरदान दिया. अगले दिन अपनी सखी के साथ माता पार्वती ने व्रत का पारण किया और समस्त पूजा सामग्री को गंगा नदी में प्रवाहित कर दिया. उधर, माता पार्वती के पिता भगवान विष्णु को अपनी बेटी से विवाह करने का वचन दिए जाने के बाद पुत्री के घर छोड़ देने से परेशान थे. Hariyali teej ki katha

वह पार्वती को ढूंढ़ते हुए उसी गुफा में पहुंच गए. मां पार्वती ने ऐसा करने की पूरी वजह बताई और कहा कि भगवान शिव ने उन्हें वरदान दिया है. इस पर महाराज हिमालय ने भगवान विष्णु से माफी मांगी और कहा कि मेरी पुत्री को भगवान शिव से विवाह करने की इच्छा है. इसके बाद ही भगवान शंकर और माता पार्वती का विवाह हुआ था.

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Fatehpur News Today: फतेहपुर के फूफा ने भतीजी से रचा ली शादी ! पत्नी ने ऐसा पीटा फूफा से निकल गया फू.. Fatehpur News Today: फतेहपुर के फूफा ने भतीजी से रचा ली शादी ! पत्नी ने ऐसा पीटा फूफा से निकल गया फू..
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) में रहने वाले एक फूफा ने अपनी बांदा (Banda) वाली भतीजी से कड़ा...
UP Fatehpur News: फतेहपुर में गंगा स्नान करने गए तीन युवक डूबे ! दो की हो गई मौ'त, परिजनों में मचा ह'ड़कंप
Fatehpur News: फतेहपुर की मोहिनी ने तोड़ दिया दम ! दो घंटे बिना इलाज के डॉक्टरों ने रोका, फिर किया रैफर
Fatehpur News Today: फतेहपुर के पिछड़े गांव का बेटा सेना में बना लेफ्टिनेंट ! किसान पिता के छलके आंसू
Pradeep Mishra Radha Rani Controversy: राधा रानी टिप्पणी पर फंसे कथावाचक प्रदीप मिश्रा ! Premanand Maharaj ने दिया करारा जवाब
NEET 2024 NTA Supreme Court Judgment In Hindi: नीट परीक्षा 2024 के लिए सुप्रीम कोर्ट ने दिया ये निर्णय ! अब बदल जाएगी मेरिट लिस्ट
Fatehpur News: फतेहपुर में नलकूप पर सो रहे किसान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत ! पास में पड़ीं थीं बोतले, शरीर नीला था

Follow Us