Dussehra Neelkanth Darshan: दशहरे के दिन आपको यदि यह दुर्लभ पक्षी दिख जाए! समझ लीजिए चमकने वाली है किस्मत

हिन्दू धर्म में पशु-पक्षी के दर्शन से जुड़ी खास मान्यताएं हैं. कहते हैं कि एक पक्षी जिसका कंठ नीला होता है,यदि उसके दर्शन विजयादशमी (दशहरा) के दिन कहीं पर भी हो जाएं तो साल भर धन-धान्य और शुभ समाचार मिलते रहते हैं. इस पक्षी को नीलकंठ कहते है. नीलकंठ शिव जी का ही स्वरूप माना जाता है. मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम का जब रावण युद्ध होने जा रहा था, तब प्रभू को नीलकंठ पक्षी के दर्शन हुए थे. जिसके बाद भगवान ने रावण का अंत कर असत्य पर सत्य की जीत का उद्घोष किया.

Dussehra Neelkanth Darshan: दशहरे के दिन आपको यदि यह दुर्लभ पक्षी दिख जाए! समझ लीजिए चमकने वाली है किस्मत
दशहरे के दिन नीलकंठ के दर्शन शुभ, फोटो साभार सोशल मीडिया

हाईलाइट्स

  • पूरे देश में आज विजयदशमी की मची धूम, असत्य पर सत्य की जीत का पर्व
  • विजयदशमी के दिन नीलकंठ पक्षी के दर्शन बेहद होता है शुभ, साल भर मिलते है शुभ समाचार
  • बहुत ही दर्शन होते हैं दुर्लभ, दर्शन हो जाएं तो चमक जाएगी किस्मत

If you see Neelkanth bird on the day : हमारे हिन्दू धर्म की मान्यताओं में बहुत से ऐसे पर्व हैं जिनका अपना अलग ही महत्व और इनसे कई प्रकार की मान्यताएं भी जुड़ी हुई है. दशहरा जिसे सभी विजयदशमी बुराई पर अच्छाई की जीत के साथ मनाते आ रहे हैं. ऐसे में इस दिन एक पक्षी के दर्शन बेहद शुभ माने गए हैं. हालांकि इस पक्षी के दर्शन वैसे तो बड़े ही दुर्लभ हैं. चलिए जानेंगे कि आखिर वह पक्षी कौन सा है जिसके दर्शन शुभ संकेत देता है.

दशहरे के दिन नीलकंठ पक्षी के दर्शन देता है शुभ संकेत

दशहरा का पर्व धूम धाम से मनाया जा रहा है. यह पर्व हिन्दू पंचांग के अनुसार अश्विन माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है. शारदीय नवरात्रि के 9 दिन पूर्ण होने के बाद दशमी तिथि जिसे विजयादशमी कहा जाता है. यह दिन बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है. इस उत्साह भरे पर्व को लेकर कई मान्यताएं भी जुड़ी हुई हैं, जिनमें से एक दशहरे के दिन नीलकंठ पक्षी के दर्शन होना. यदि किसी को भी इस खास दिन में नीलकंठ पक्षी के दर्शन होते हैं तो समझ लीजिए कि आपके बुरे दिनों का अंत हो गया. हालांकि इनके दर्शन बेहद दुर्लभ होते है, जिसे होते है वे अपने आपको सौभाग्यशाली समझते है.

कैसा दिखता है नीलकंठ पक्षी, शिवजी का स्वरूप माना जाता है

Read More: Pm Modi Anushthan: राम लला की प्राण-प्रतिष्ठा से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 दिन का शुरू किया विशेष अनुष्ठान ! पंचवटी से शुरुआत

नीलकंठ पक्षी को वैसे तो शिव जी का ही स्वरूप व भगवान शिव के समान बताया गया है. भगवान शिव ने जब समुद्र मंथन के दौरान विष पिया था उनका कंठ नीला पड़ गया था. इसी तरह इस दुर्लभ पक्षी नीलकंठ का भी कंठ नीला ही है. घर से आप निकल रहे हो या छत पर हो अगर आपको दशहरा के दिन यह नीलकंठ पक्षी दिख जाए, समझ लीजिए आपकी किस्मत चमकने वाली है. यानि आपके अच्छे दिन शुरू होने वाले है. इस पक्षी के दर्शन वैसे तो बेहद दुर्लभ हैं. यदि दर्शन हो जाए तो लोग अपने आपको किस्मती समझते हैं.

Read More: Jaya Kishori Biography: जानिए कौन हैं कथावाचिका 'जया किशोरी'? बाल्यकाल से ही भगवान श्रीकृष्ण के प्रति रही अटूट आस्था

कई मान्यताएं हुई हैं जुड़ीं

Read More: Premanand Ji Maharaj Motivational: प्रेमानन्द महाराज ने बताया इन गलतियों को जीवन में न करें ! पुण्य हो जाएंगे नष्ट

पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक प्रभू श्री राम जब रावण से युद्ध करने जा रहे थे तभी श्रीराम चन्द्र जी को इस दुर्लभ पक्षी नीलकंठ के दर्शन हुए थे और प्रभू ने रावण का अंत कर अधर्म पर धर्म, असत्य पर सत्य की जीत का पताका फहराया. एक और महत्व भी दर्शाया गया है, जब प्रभू के हाथों रावण का वध हुआ तो उन्हें ब्रह्महत्या का दोष लगा. इस दोष से मुक्ति के लिए प्रभू ने अनुज लक्ष्मण के साथ भगवान शिव की आराधना की, तब शिव जी नीलकंठ पक्षी रूप में प्रकट हुए और उन्हें दर्शन दिए.जिसके बाद उनका ब्रह्म हत्या का दोष मुक्त हुआ.

नीलकंठ दिखने पर ये संकेत

विजयदशमी के दिन लकड़ी की डाल या अन्य जगह नीलकंठ पक्षी बैठा दिखाई दे तो यह शुभकारी है. इससे धन योग बनने की संभावना रहती है. अविवाहित महिला हो या पुरुष यदि इस दिन इन्हें नीलकंठ के दर्शन हो जाए तो समझ लें विवाह  में आ रही समस्याओं का अंत हो जाता है. किसी पुरुष को दशहरा के दिन नीलकंठ दिखे तो समझिए कि आपके हर बिगड़े कामों से मुक्ति और सभी काम सही से बनने लगेंगे, किसी महिला को अगर दशहरे के दिन नीलकंठ के दर्शन हो जाए और यदि नीलकंठ आपके दाहिनी ओर उड़ता हुआ दिख जाए तो इससे विवाह योग बनते हैं.  

नीलकंठ पक्षी दिखे तो इस मंत्र का करें जाप

दशहरा के दिन नीलकंठ पक्षी दिख जाएं तो आप ‘कृत्वा नीराजनं राजा बालवृद्धयं यता बलम्। शोभनम खंजनं पश्येज्जलगोगोष्ठसंनिघौ।। नीलग्रीव शुभग्रीव सर्वकामफलप्रद। पृथ्वियामवतीर्णोसि खच्चरीट नमोस्तुते।।‘ 

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

UP Board Exam Paper Leak: 12 वीं पेपर लीक मामले में बोर्ड की बड़ी कार्रवाई ! स्कूल की मान्यता निरस्त, 2 गिरफ्तार,1 की तलाश जारी UP Board Exam Paper Leak: 12 वीं पेपर लीक मामले में बोर्ड की बड़ी कार्रवाई ! स्कूल की मान्यता निरस्त, 2 गिरफ्तार,1 की तलाश जारी
पेपर लीक का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब यूपी बोर्ड परीक्षा में पेपर लीक का मामला...
Anant Ambani-Radhika Pre Wedding: अनन्त अम्बानी-राधिका की प्री वेडिंग सेरेमनी में दुनिया भर से दिग्गजों का आना हुआ शुरू ! जानिए कौन-कौन हस्तियां हो रही इस भव्य समारोह में शामिल
Banshidhar Tobacco Company IT Raid: तम्बाकू कम्पनी के कानपुर समेत कई ठिकानों पर IT की रेड ! दिल्ली-गुजरात में भी छापेमारी, क्या-क्या मिला?
Mahashivratri 2024: कब हैं 'महाशिवरात्रि' का महापर्व? क्यों मनाई जाती है महाशिवरात्रि ! जानिये पौराणिक महत्व
March Muhurat 2024: विवाह-गृह प्रवेश व मुंडन संस्कार के जान लीजिए मार्च माह के शुभ मुहूर्त और तिथि
Fatehpur Sadar Asptal: मैं मना करती रही और वो हथौड़ी चलाता रहा ! डॉक्टर की करतूत बताते हुए भावुक हो गई सिस्टर इनचार्ज
Cardiac Arrest Treatment: कार्डियक अरेस्ट आने पर नहीं मिलता है जान बचाने का मौका ! इसलिए हो जाइए सचेत

Follow Us