×
विज्ञापन

Uttar Pradesh:डीएम डॉ दिनेश चंद्र की पहल से हल हुई वर्षों पुरानी समस्या

विज्ञापन

यूपी के कानपुर देहात ज़िले के डीएम डॉ दिनेश चंद्र की पहल रंग लाई सामुदायिक सहयोग से अब बीएसए कार्यालय में इंटरलॉकिंग काम की शुरुआत हो गई है.पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

कानपुर देहात:वर्षों से जलभराव की समस्या से जूझ रहा जनपद का बीएसए आफ़िस अब इस समस्या से जल्द ही मुक्त हो जाएगा डीएम दिनेश चंद्र ने इसके लिए पहल की और सबके सहयोग से यह सम्भव हो पाया।शनिवार को बीएसए आफ़िस परिसर में इंटरलॉकिंग के काम का शिलान्यास डीएम दिनेश चंद्र ने एसपी,सीडीओ और ज़िले के तमाम अफ़सरों की मौजूदगी में किया।uttar pradesh

विज्ञापन
विज्ञापन

दरअसल शुक्रवार शाम को बेसिक शिक्षा विभाग की जनपदीय टास्क फोर्स की जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में समस्त जनपदीय अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने अपने कार्यालय में जलभराव की समस्या बताते हुए इंटरलॉकिंग कराए जाने का अनुरोध किया इस पर जिलाधिकारी ने समस्त उपस्थित अधिकारियों से कहा की बेसिक शिक्षा विभाग का यह कार्य हम सभी के सहयोग से कराया जाना उचित होगा बेसिक शिक्षा व शिक्षकों से उऋण होने का यह शुभ अवसर है, इस पहल का स्वागत करते हुए मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पांडे ने समस्त अधिकारियों को तुरंत सामुदायिक सहयोग के लिए निर्देशित किया उसी बैठक में ही जनपदीय अधिकारियों के सहयोग से 30000 रूपये एकत्रित करते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को सौंप दिए गए।uttar pradesh kanpur dehat news

उसी संदर्भ में शनिवार को जिलाधिकारी डॉ दिनेश चंद्र, पुलिस अधीक्षक केशव चौधरी, मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पांडेय ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में स्वयं उपस्थित होकर इंटरलॉकिंग कार्य का शिलान्यास किया।उपस्थित कर्मचारियों एवं शिक्षकों से भी पांच पांच ईंट दान करने की अपील की ताकि यह कार्य पूरे जनपद के लिए एक नजीर बन सके।उन्होंने कहा कि जनपद में शिक्षा विभाग के सभी कार्यालयों को स्वच्छ एवं सुंदर बनाया जाए क्योंकि यही कार्यालय जनपद की पहचान होते हैं।कार्यक्रम में डायट प्राचार्य डॉ सच्चिदानंद यादव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सुनील दत्त आदि मौजूद रहे।up news hindi


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।