Auraiya Devkali Temple : जौ के जितना साल में एक बार बढ़ता है शिवलिंग,यमुना किनारे घोर बीहड़ में कभी इस क्षेत्र में था कुख्यात डाकुओं का आतंक

उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में यमुना नदी के पास प्राचीन और रहस्यमयी शिव मंदिर है.जिसे देवकली मन्दिर कहा जाता है.कई दशक पहले यहां दुर्गम बीहड़ क्षेत्र था, यहां बड़ी-बड़ी गहरी घाटियों में डाकुओं का आतंक रहा.जिसकी वजह से लोग यहां आने में कतराते थे. इस मंदिर की मान्यता है कि शिवरात्रि के दिन जौ बराबर शिवलिंग बढ़ता है. कई जनपदों से कावड़िये और भक्त यहां दर्शन के लिए पहुँचते हैं.

Auraiya Devkali Temple : जौ के जितना साल में एक बार बढ़ता है शिवलिंग,यमुना किनारे घोर बीहड़ में कभी इस क्षेत्र में था कुख्यात डाकुओं का आतंक
औरैया का प्रसिद्ध देवकली मन्दिर

हाईलाइट्स

  • औरैया के प्रसिद्ध देवकली मन्दिर का रहस्यमयी इतिहास, कन्नौज के राजा जयचंद की बहन के नाम पर पड़ा मन्दिर
  • शिवरात्रि के दिन जौ बराबर बढ़ता है शिवलिंग,दूर दराज से दर्शन के लिए पहुंचते हैं भक्त
  • कभी यहां दुर्गम बीहड़ और कुख्यात डाकुओं का था आतंक,लोगो में बनी रहती थी दहशत

mysterious Devkali temple in auraiya : देश के कोने-कोने में शिव मंदिरों की अनोखी महिमा है. कई ऐसे रहस्यमयी स्थान है, जहां शिव मंदिर का पौराणिक महत्व कई रहस्यों से भरा हुआ है.कहते हैं कि सावन मास में शिव जी का जप और ध्यान करने से ही भोलेनाथ प्रसन्न हो जाते है. आज हम औरैया जिले के एक ऐसे शिव मंदिर की बात करेंगे और उसके पौराणिक महत्व के बारे में बताएंगे, यहां शिवलिंग का आकार साल में जौ बराबर बढ़ता है.सावन मास के दिनों में कई जनपदों से भक्तों का तांता लगा रहता है. चलिए इस रहस्यमयीशिव मंदिर के बारे में आपको बताते हैं..

कन्नौज के राजा जयचंद की बहन देवकला के नाम पर पड़ा मन्दिर का नाम

उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में यमुना नदी किनारे शेरगढ़ घाट स्थित प्राचीन देवकली मंदिर है. देवकली मंदिर का नाम एक स्त्री के नाम पर पड़ा था. यह मंदिर 11 वीं सदी के कन्नौज के राजा जयचंद की बहन के नाम पर पड़ा था.जयचंद की बहन देवकला की इस शिव मन्दिर में विशेष आस्था थी.उसकी आस्था को देखते हुए इस मंदिर का नाम भी देवकली पड़ गया.

कई दशक पहले इस बीहड़ क्षेत्र में आने से डरते थे लोग

Read More: Basant Panchami (2024) Kab Hai: कब है बसंत पंचमी का पर्व? क्यों मनायी जाती है बसंत पंचमी ! जानिए क्या है इसके पीछे का पौराणिक महत्व और कथा

आज से कई दशक पहले यहां आना किसी खतरे से कम नहीं था. यमुना नदी किनारे घनघोर बीहड़ जंगल हुआ करता था.कुख्यात, दस्यु डाकुओं का आतंक था. यमुना के आसपास और गहरी घाटियों में ये डकैत रहा करते थे. देवकली मन्दिर और पास में ही मंगलाकाली मन्दिर में ये डकैत मन्दिर में झंडा चढ़ाने आते थे.डाकुओं के आतंक की वजह से लोगों को यहां पहुंचना काफी मुश्किल और चुनौती भरा होता था. लेकिन समय बीतता गया और डाकूओ का अंत होता हो गया.अब यहां पुलिस चौकियां है.

Read More: Sant Ravidas Jayanti: 'मन चंगा तो कठौती में गंगा', जानिए संत रविदास कौन थे ! क्यों मनाई जाती है रविदास जयंती?

जौ बराबर बढ़ता है शिवलिंग दूर-दूर से दर्शन के लिए पहुंचते हैं भक्त

Read More: Khichdi kyo Khai Jati Hai: मकर संक्रान्ति में लोग खिचड़ी क्यों खाते हैं, जाने इसका धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

सावन के दिनों में यहां पर दर्शन के लिए भक्तों की भीड़ बढ़ने लगी है.इस मंदिर के आसपास पहले 52 कुएँ हुआ करते थे.जिनमें काफी तो अब नहीं बचे ,लेकिन अभी भी कुछ पुराने कुँए मौजूद है.मंदिर के पुजारी का कहना है कि ऐसी मान्यता है कि शिवरात्रि के दिन जौ के बराबर शिवलिंग बढ़ता है. शिवलिंग पर जो जल चढ़ता है वह कहा जाता है, आज तक रहस्य बना हुआ है.शिवरात्रि हो या सावन मास यहां भक्तों की भीड़ हमेशा ही बनी रहती है.भक्त बाबा को जल ,बेल पत्र अर्पित कर यहां पूजा करते हैं.यहां दर्शन करने वाले भक्तों की बाबा मनोकामना जरूर पूरी करते हैं. यहां कानपुर ,उरई ,जालौन, इटावा, कन्नौज व अन्य राज्यों से भी भक्त दर्शन के लिए आते हैं.

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Latest News

Parenting Tips: बच्चों की बेहतर परवरिश और उनके भविष्य को संवारने के लिए अपनाएं ये टिप्स Parenting Tips: बच्चों की बेहतर परवरिश और उनके भविष्य को संवारने के लिए अपनाएं ये टिप्स
बच्चों की सही परवरिश (Upbringing) और उन्हें सही सीख देने की हर मां-बाप की ख्वाहिश होती है कि उनका बच्चा...
Aaj ka Rashifal 26 फरवरी 2024: इस राशि के जातक को पुराना पैसा मिल सकता है ! जानिए सभी राशियों का Kal Ka Rashifal
Oneplus 12R Refund: वनप्लस 12R सीरीज में आई ये समस्या ! अब कंपनी देगी फुल रिफण्ड, बस करना होगा ये काम
Kaushambi Patakha Blast: कौशाम्बी की पटाखा फैक्ट्री में ब्लास्ट ! 4 की मौत, कई घायल, बढ़ सकती है मौत की संख्या
UP Gehu Kharid 2024-25: यूपी में गेहूं खरीद पर बड़ी अपडेट ! इस तारीख़ से खुलेंगे सेंटर, जाने गेहूं का प्राइस
India Vs England Test Series: रांची टेस्ट में भारत मजबूत स्थिति में ! अश्विन और कुलदीप की फिरकी के आगे पस्त हुए अंग्रेज, भारत जीत से 152 रन दूर
Katni-Mohas Hanuman Mandir: मध्यप्रदेश के कटनी में है एक ऐसा चमत्कारिक हनुमान मन्दिर ! जहां दूर-दूर से टूटी हड्डियों का इलाज कराने पहुंचते हैं भक्त, राम-नाम जप व बूटी ग्रहण करने से जुड़ जाती है टूटी हड्डियां

Follow Us