×
विज्ञापन

महोबा कांड:क्रशर कारोबारी इन्द्रकांत त्रिपाठी की इलाज़ के दौरान मौत.मारी गई थी गोली..निलम्बित एसपी पर हैं आरोप.!

विज्ञापन

महोबा के क्रशर व्यापारी इन्द्रकांत त्रिपाठी की रविवार शाम कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में मौत हो गई..उन्हें गोली मारी गई थी..पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

लखनऊ:महोबा के पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार पर उगाही और जान से मार देने की धमकी देने का आरोप लगाने वाले क्रशर कारोबारी इन्द्रकांत त्रिपाठी की रविवार रात इलाज़ के दौरान कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में मौत हो गई है।indrakant tripathi

ये भी पढें-UP:भ्रष्टाचारी एसपी और थानेदार पर दर्ज हुआ हत्या की कोशिस औऱ साज़िश का मुकदमा.!

उल्लेखनीय है कि इन्द्रकांत त्रिपाठी ने बीते 5 सितम्बर को अपना एक वीडियो जारी किया था जिसमें उन्होंने तत्कालीन एसपी मणिलाल पाटीदार पर आरोप लगाते हुए कहा था कि एसपी उनसे प्रति माह 6 लाख रूपयों की वसूली कर रहा है न देने पर फ़र्जी मुकदमों में फँसाने और जान से मारने की धमकी दे रहें हैं।इन्द्रकांत ने कहा था कि एसपी से उन्हें जान का ख़तरा है और किसी भी वक्त वह उनकी हत्या करा सकतें हैं।indrakant tripathi murder

ये भी पढ़ें-UP:सस्पेंड हो चुके वसूलीबाज एसपी के विरुद्ध अब दर्ज हुई एफआईआर..!

वीडियो वायरल हुआ जिसके बाद शासन स्तर तक हड़कम्प मच गया इसी बीच सात सितंबर को क्रशर कारोबारी को उनकी कार में गोली मार दी गई।परिवारीजनो ने एसपी पर आरोप लगाए। ips manilal patidar

शासन ने प्रथम दृष्टया मणिलाल पाटीदार को भ्रष्टाचार के आरोपों में दोषी पाते हुए निलंबित कर दिया और उनके खिलाफ जाँच के आदेश दिए।बीते दिन मणिलाल पाटीदार औऱ तत्कालीन एसओ समेत कुछ लोगों के विरुद्ध इन्द्रकांत त्रिपाठी की हत्या करने की कोशिश करने, हत्या की साजिश रचने समेत कई गम्भीर धाराओं में महोबा में मुदकमा दर्ज किया गया। mahoba sp manilal patidar

ये भी पढ़ें-UPPSC result 2018:डीएसपी के पद पर चयनित हुए फतेहपुर के अमित सविता के संघर्ष से सफलता की कहानी.!

अब जबकि रविवार को इन्द्रकांत त्रिपाठी की इलाज़ के दौरान मौत हो गई है तो उपरोक्त मुकदमों की धराओं को हत्या की धारा 302 में भी तरमीम कर दिया जाएगा।जिसके चलते अब मणिलाल पाटीदार जल्द ही गिरफ्तार कर लिए जाएंगे।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।