×
विज्ञापन

कोरोना:यूपी में भाजपा सांसद के प्रतिनिधि और भतीज़े के विरुद्ध दर्ज हुआ मुकदमा..जिला प्रशासन पर लगाए थे आरोप..!

विज्ञापन

कोरोना को लेकर यूपी के फर्रूखाबाद ज़िले में भाजपा सांसद के प्रतिनिधि और सांसद भतीज़े के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हो गया है..पढ़े पूरी खबर विस्तार से युगान्तर प्रवाह पर।

फर्रुखाबाद:फेसबुक पर जिला प्रशासन पर कोरोना के मामले छिपाने व लापरवाही का आरोप लगाते हुए पोस्ट करना व उस पोस्ट पर टिप्पणी करने के मामले में ज़िले के मौजूदा सांसद मुकेश राजपूत के भतीजे राहुल राजपूत और प्रतिनिधि दिलीप कुमार भरद्वाज के खिलाफ महिला दरोगा ने मुकदमा दर्ज कराया है।

क्या है पूरा मामला..

बीते 4 मई को सांसद प्रतिनिधि दिलीप ने एक न्यूज पेपर की कटिंग को फेसबुक में शेयर करते हुए यह लिखा था कि-
"उनको न जिले की परवाह है न जिले की जनता की। परवाह है तो सिर्फ #पुरस्कार की बस जिला #ग्रीनजोन में बना रहे। तभी तो जिले की सीमायें सील होने के बाद भी एक #कोरोना पॉजिटिव अपनी पत्नी के साथ फर्रुखाबाद के तकीपुर से #कानपुर मोटरसाइकिल से रात 1:30बजे चला गया। न जिले की सीमाओं पर रोका गया और न ही #कन्नौज और रेड जोन #कानपुर की सीमाओं पर। तकीपुर से #कानपुर तक कोई कुछ नहीं कहता रात के सन्नाटे में एक महिला के साथ मोटरसाइकिल बेरोकटोक चली जाती है।
ये #फर्रुखाबाद #जिलाप्रशासन का स्पष्ट #षड्यंत्र है।"

ये भी पढ़े-कोरोना:फर्रूखाबाद में दो नए मामले आए सामने..अब तक सात हुए ठीक..!

दिलीप की इसी पोस्ट पर सांसद के भतीज़े राहुल राजपूत ने कमेंट करते हुए लिखा है कि- "पांच मरीज़ मिले उनको साहब ने अपने पुरुस्कार के चलते चुपके से दूसरे जिलों में भेज दिया जल्दी में एटा  वाला लड़का भी फर्रुखाबाद से 10000 रुपये देकर भगा दिया गया अपनी बहन के घर, अधिकारी हैं साहब जो मर्ज़ी आए करें सब जायज़ है.."

ये भी पढ़े-कोरोना:इस पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी को हुआ कोरोना का संक्रमण..!

इसी पोस्ट और उस पर किए गए कमेंट के चलते सांसद प्रतिनिधि और भतीज़े पर महिला दरोगा सीमा पटेल ने फतेहगढ़ कोतवाली में आईटी एक्ट समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।

मुकदमें की जानकारी मिलने के बाद देर रात सांसद प्रतिनिधि ने फेसबुक पे लिखकर कहा है कि जिला प्रशासन ने मेरे व माननीय सांसद जी के भतीज़े पर मुकदमा दर्ज कराया है क्योंकि मैंने जिला प्रशासन की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह उठाया था।उन्होंने स्पष्ट किया है कि वह अभी भी अपनी बात पर कायम है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।