×
विज्ञापन

UP:अधिकारियों पर दबाव बनाने के लिए बन बैठा हाईकोर्ट का जज..पत्नी सहित पहुँचा हवालात..!

विज्ञापन

यूपी के फर्रुखाबाद में एक अजीबोगरीब मामला प्रकाश में आया है..यहाँ एक शातिर अधिकारियों पर दबाव बनाकर गलत काम कराने के लिए खुद को हाईकोर्ट का जज बता रहा था..पढ़ें पूरी ख़बर युगान्तर प्रवाह पर..

फर्रुखाबाद:हाईकोर्ट लखनऊ का खुद को जज बताकर एसडीएम सहित ज़िले के आलाधिकारियों पर धौंस जमाकर अपना काम कराने का प्रयास करने वाले एक शातिर को पुलिस ने धर लिया है।पुलिस ने उक्त शातिर की पत्नी को भी हिरासत में लेकर पूरे मामले की पड़ताल कर रही है|

ये भी पढ़ें-फतेहपुर:पुलिस के हत्थे चढ़ा एक औऱ टॉप-10 का शातिर अपराधी..दर्ज हैं 17 मुकदमें..!

जानकारी के अनुसार राजेपुर थाना क्षेत्र के ग्राम बदनपुर निवासी प्रदीप चौहान पुत्र मुन्ना सिंह नें एसडीएम अमृतपुर विजेंद्र कुमार सिंह को फोन किया कि वह हाई कोर्ट लखनऊ का जज बोल रहा है।उसने एसडीएम से कहा कि  उसकी एक पट्टे की फाइल मुन्ना सिंह के नाम से है जिसे पास कर दें|

कई बार फोन करने पर एसडीएम को शक हुआ तो उन्होंने उसकी पड़ताल शुरू की।जिसके बाद फोन करने वाले प्रदीप चौहान को शहर कोतवाली के आवास विकास से एसडीएम अपनी गाड़ी से थाने लेकर आए।सूचना मिलनें पर एसपी डॉ० अनिल कुमार मिश्रा, स्वाट टीम प्रभारी दिनेश गौतम आदि थाने पंहुचे|पता चला है कि प्रदीप चौहान लखनऊ हाईकोर्ट के एक जज का ड्राइवर है जो खुद जज बनकर फोन कर रहा था।

ये भी पढ़ें-फतेहपुर:Exclusive-गरीबों की बस्ती 'नरकलोक' में तब्दील..सुध लेने वाला कोई नहीं..!

पुलिस की जाँच में सामने आया है कि आरोपी प्रदीप चौहान अपने कालेकारनामों के लिए  अधिकारियों पर दबाब बनानें और जालसाजी करने के काम में पत्नी को भी शामिल रखता था।

उसने लखनऊ के पते से सिम कार्ड ले रखे थे| वर्तमान में वह आवास विकास में रह रहा था| पुलिस अब उसकी पत्नी को भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।पता चला है कि खुद जज बनता था और पत्नी को मजिस्ट्रेट बनाकर काले कारनामों को अंजाम देता था|


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।