×
विज्ञापन

Navratri 2021 Paran Kab Hai: शारदीय नवरात्रि 2021 का व्रत पारण किस दिन करें क्या है सही डेट जान लें पूरी बात

विज्ञापन

इस साल के शारदीय नवरात्रि अब अपने अंतिम चरण में पहुँच चुके हैं. 13 अक्टूबर को अष्ठमी का व्रत किया जाएगा. 14 को नवमीं औऱ फिर 15 को दशमी यानि कि दशहरे का पर्व मनाया जाएगा. नवरात्रि व्रत पारण कब है पारण की सही तारीख़ औऱ उसके महत्व को जानते हैं. Navratri 2021 Paran Kab Hai Shardiya Navratri 2021 Paran Date

Navratri 2021 Paran Kab Hai: इस वक़्त शारदीय नवरात्रि का उत्सव मनाया जा रहा है.माँ दुर्गा की पूजा अर्चना के साथ ही श्रद्धालुओं द्वारा व्रत किया जाता है.कोई पूरे नवरात्रि का व्रत रखता है तो बहुत से लोग प्रतिपदा (नवरात्रि का पहला दिन) औऱ अष्ठमी के दिन उपवास रखते हैं. औऱ कुछ लोग सप्तमी औऱ नवमी तिथि को भी उपवास रखते हैं. जो लोग एक दिन का व्रत रखते हैं वह तो अगले दिन व्रत का पारण कर देते हैं. लेकिन जो लोग पूरे नवरात्रि का व्रत रखते हैं उनको पारण की तिथि को लेकर थोड़ा असमंजस हो जाता है. Navratri 2021 Paran Date

विज्ञापन
विज्ञापन

इस साल एक तिथि का क्षय होने से नवरात्र आठ दिन के ही हैं.यानी कि दो तिथियां एक साथ पड़ गई हैं.लेकिन व्रत पारण को लेकर विद्वानों में मतभेद है.कुछ जानकार बताते हैं कि नवमी तिथि में शुभ मुहूर्त देखकर पारण करना ज़्यादा शुभ होता है तो वहीं कुछ विद्वानों का मत है कि दशमी तिथि को पारण किया जाना उत्तम होता है.Sharad Navratri 2021 Paran Date

यहाँ एक बात जान लीजिए सनातन हिन्दू धर्म शास्त्रों औऱ पुस्तकों में नवमी औऱ दशमी दोनों तिथियां ही पारण के लिए शुभ बताई गईं हैं.जो लोग इस साल शारदीय नवरात्रि का पारण नवमी तिथि को करना चाहते हैं वह 14 अक्टूबर को दोपहर चार बजे के बाद व शाम 6 बजे से पहले कर सकते हैं. वहीं दशमी को पारण करने वाले लोग 15 अक्टूबर को सुबह सुबह पारण कर सकते हैं. Navratri 2021 vrat Paran Date

अष्ठमी औऱ नवमी तिथि..

अष्टमी तिथि 12 अक्टूबर रात 9 बजकर 47 मिनट से शुरू होकर 13 अक्टूबर रात्रि 8 बजकर 6 मिनट तक रहेगी. अष्टमी तिथि मानने वाले लोग 13 अक्टूबर को बुधवार के दिन व्रत रखेंगे और कन्या पूजन करेंगे. इस दिन अमृत काल सुबह 3 बजकर 23 मिनट से सुबह 4 बजकर 56 मिनट तक रहेगा. वहीं ब्रह्म मुहूर्त सुबह 4 बजकर 48 मिनट से शुरु होकर 5 बजकर 36 मिनट तक है. Navaratri Paran 2021 Kab Hai

नवमी तिथि 13 अक्टूबर रात 8 बजकर 7 मिनट से लेकर 14 अक्टूबर शाम 6 बजकर 52 मिनट तक रहेगी. नवमी मानने वाले लोग गुरुवार, 14 अक्टूबर को पूजन करेंगे. इस दिन पूजा का अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 43 मिनट से दोपहर 12 बजकर 30 मिनट तक रहेगा. अमृत काल सुबह 11 बजे से लेकर दोपहर 12 बजकर 35 मिनट तक है जबकि ब्रह्म मुहूर्त सुबह 4 बजकर 49 मिनट से  5 बजकर 37 मिनट तक है. चौघड़िया का समय इस प्रकार है. Navami tithi shubh muhurat navratri 2021 kanya pujan paran kab hai

ये भी पढ़ें- Navratri: जय अम्बे गौरी आरती हिंदी में Jay Ambe Gauri Arati In Hindi अंबे माता जी की आरती

ये भी पढ़ें- Navratri Arati:काली माता की आरती अम्बे तू है जगदम्बे काली Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Arati In Hindi

ये भी पढ़ें- Navratri Vrat Paran Vidhi: नवरात्रि व्रत पारण की सही विधि क्या है जानें विस्तार से


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।