×
विज्ञापन

पालघर में हिंसक भीड़ के हांथो मारे गए दो संतो सहित तीन की मौत का आख़िर पूरा सच क्या है..जानें..!

विज्ञापन

महाराष्ट्र के पालघर में दो संतो और उनकी गाड़ी चला रहे ड्राइवर को घेरकर भीड़ द्वारा मार दिया गया है..इस माबलिंचिंग की घटना के बाद से पूरे देश में आक्रोश फैला हुआ है..पढ़े घटना की पूरी सच्चाई युगान्तर प्रवाह पर।

डेस्क:महाराष्ट्र के पालघर में हुई मॉबलिंचिंग की घटना ने पूरे देश को गुस्से और आक्रोश से भर दिया है।लोग दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग कर रहें हैं।इस हिंसक घटना में दो हिन्दू संतो और औऱ उनके कार चालक की हत्या हुई है।घटना के बाद से देश के संतों में भी गुस्सा भर गया है।सोशल मीडिया में इस घटना के बाद से कई तरह की बातें की जा रही हैं।दरअसल यह घटना बीते गुरुवार की रात की है।लेकिन घटना के वीभत्स वीडियो रविवार को सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद पूरे देश मे हड़कम्प मचा।

क्या है पूरा मामला..

मुंबई से क़रीब सवा सौ किलोमीटर दूर पालघर के गढ़चिंचले गाँव के समीप यह घटना हुई है।इस मॉबलिंचिंग में एक हिन्दू अखाड़े से जुड़े हुए दो संतो सत्तर वर्षीय कल्पवृक्ष गिरी महाराज और सुशील गिरी महाराज व उनके कार चालक निलेश तेलंगने की हत्या हुई है।palghar mob lynching

जानकारी के अनुसार यह सभी लोग अपने किसी परिचित के अंतिम संस्कार में सूरत गुजरात जा रहे थे।जब इनकी कार गढ़चिंचले गाँव के निकट से रात में गुजरी तो भीड़ द्वारा जिसमें क़रीब 200 से 300 लोग शामिल थे घेर लिया गया।भीड़ द्वारा घिर जाने के बाद कार चालक ने पालघर पुलिस स्टेशन मे सूचना दी।मौक़े पर पुलिस पहुँची लेक़िन भीड़ उन तीनों मारने में आमादा थी।गुस्साई भीड़ को इस तरह हिंसक होते देख पुलिस पीछे हट गई और भीड़ ने लाठी डंडों से पीट पीट कर दोनों सन्तो और उनके ड्राइवर की हत्या कर दी।बताया जा रहा है कि पुलिस द्वारा भीड़ को समझाने का प्रयास किया गया लेक़िन भीड़ ने पुलिस पर भी हमला कर दिया जिससे पुलिस को वहां से पीछे हटना पड़ा।

ये भी पढ़े-BREAKING:सीएम योगी के पिता का निधन..!

बताया जा रहा है कि इस इलाक़े में एक ख़ास तरह की जनजाति (आदिवासी) समूह के लोग रहतें हैं।पुलिस की शुरुआती जांच में यह निकलकर सामने आया है कि यहाँ बच्ची चोरी की अफवाहें फ़ैली हुई थीं।जब उस रात यह गाड़ी उस इलाक़े से गुजरी तो लोगों ने बच्चा चोर समझ गाड़ी का घेराव कर दिया।

ये भी पढ़े-lockdown 2:कासँगज से पैदल चलकर मिर्जापुर जा रहे युवक की फतेहपुर में मौत..!

इस मामले में पालघर पुलिस द्वारा बताया गया है कि घटना वाली रात ही 110 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया था।जिनमे से 9 लोग नाबालिक थे।सभी को पुलिस रिमांड में लेकर पूछताछ जारी है।घटना में शामिल अन्य लोगों को भी पुलिस गिरफ्तार करने के प्रयास में जुटी हुई है।

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने ट्वीट कर रहा है कि हमला करने वाले और जिन लोगों की इस हमले में जान गई है वह अलग अलग धर्मो के नहीं थे।उन्होंने कहा कि इस मामले में जो भी लोग धार्मिक उन्माद फैलना चाहते हैं उनके खिलाफ सख़्त कार्यवाही की जाएगी।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।