×
विज्ञापन

Dhanteras 2022 Kab Hai : धनतेरस की तारीख़ को लेकर न हो कन्फ्यूज, 22 को ही मनाया जाएगा, ये है कारण

विज्ञापन

धनतेरस ( dhanteras 2022 ) का पर्व नजदीक है.धनतेरस के दिन से पांच दिनों तक चलने वाले दीपोत्सव की शुरुआत होती है. इस साल 22 औऱ 23 अक्टूबर को त्रयोदशी तिथि पड़ने से धनतेरस को लेकर लोग कन्फ्यूज हैं.

Dhanteras 2022 : दिवाली से दो दिन पहले 22 अक्तूबर के दिन धनतेरस पर्व को मनाया जाएगा.धनतेरस dhanteras 2022 kab hai के दिन मां लक्ष्मी, धन्वंतरि और कुबेर की पूजा की जाती है.इस दिन लोग बड़े पैमाने पर नई चीजों की खरीदारी करते हैं.शास्त्रों के अनुसार इस दिन नई चीजों को खरीदना काफी शुभ माना गया है.धनतेरस पर्व dhanteras 2022 date uttar pradesh को धनतेरस त्रयोदशी या धन्वंतरि जयंती के रूप में भी जाना जाता है.

विज्ञापन
विज्ञापन

इस साल धनतेरस की डेट को लेकर काफ़ी कन्फ्यूजन है,  dhanteras 2022 correct date कुछ लोग दिवाली से एक दिन पहले यानी 23 अक्टूबर को धनतेरस पर्व होने की बात कर रहें हैं. लेक़िन काशी के प्रसिद्ध पंचांग गणेशआपा के अनुसार धनतेरस का पर्व 22 अक्टूबर को ही मनाया जाएगा.

ज्योतिष के जानकार बताते हैं कि धनतेरस का पर्व भी दिवाली की तरह सायंकालीन औऱ रात्रिकालीन पर्व है. Dhanters tithi 2022 started त्रयोदशी तिथि 22 अक्टूबर को शाम 4:19 मिनिट से प्रारंभ होकर अगले दिन 23 अक्टूबर को शाम 4:50 मिनिट पर समाप्त होगी. उसके बाद चौदस तिथि प्रारंभ हो जाएगी. शाम को त्रयोदशी तिथि होने से धनतेरस का पर्व 22 अक्टूबर को ही मनाया जाएगा. Dhanteras 2022 date

धनतेरस पर झाड़ू का महत्व

धर्म शास्त्रों के मुताबिक, झाड़ू को एक तरह के धन का रूप माना जाता है. यही वजह है कि झाड़ू dhanteras par jhadu ka mahattv में पैर लगाने से मना किया जाता है. अगर गलती से घर के झाड़ू में पैर भी लग जाता है तो बड़े-बुजुर्ग प्रणाम करने के लिए कहते हैं. ज्योतिष ज्ञान के मुताबिक, झाड़ू दुख को दूर करने वाला और सुख को आकर्षित करने वाला बताया गया है. बहुत लोगों के मुंह से सुना होगा कि रोजाना घर में झाड़ू लगाने से कर्ज घटता है और दरिद्रता दूर होती है. इस लिए धनतेरस के दिन झाड़ू खरीदना काफ़ी शुभ माना जाता है. Dhanteras par jhadu ke upay

ये भी पढ़ें- Dhanteras पर क्यों ख़रीदी जाती है झाड़ू

ये भी पढ़ें- Up News : फतेहपुर में खेत जोतते समय निकली विशाल मूर्ति, बुद्ध औऱ शिव की चर्चा, लोगों की लगी भीड़

ये भी पढ़ें- UPPSC PCS Topper 2021 Interview : फतेहपुर के प्रवीण ने किया पीसीएस टॉप, पिता थे नलकूप ऑपरेटर


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।