×
विज्ञापन

महोबा कांड:निलम्बित IPS मणिलाल पाटीदार के काले कारनामों का रोज खुल रहा है चिठ्ठा.!

विज्ञापन

महोबा के कबरई में क्रशर कारोबारी इन्द्रकांत त्रिपाठी से उगाही करने व उसकी मौत के मामले में मुख्य आरोपी तत्कालीन एसपी मणिलाल पाटीदार के रोज़ नए नए काले कारनामें सामने आ रहे हैं..पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

लखनऊ:महोबा के कबरई में क्रशर कारोबारी इन्द्रकांत त्रिपाठी की मौत व उगाही के आरोप में फ़रार चल रहे व भ्रष्टाचार के मामले में निलम्बित किए जा चुके महोबा के पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार के काले कारनामों की फेहरिस्त लम्बी हो चली है।Ips manilal patidar

विजिलेंस जांच में एक बड़ा खुलासा हुआ है। आरोपी आईपीएस मणिलाल पाटीदार ने लखनऊ के एक ट्रांसपोर्टर से सिपाही के जरिये दो लाख रुपये की उगाही मांगी थी।रकम न देने पर पाटीदार के इशारे पर पुलिस ने ट्रांसपोर्टर के कई डंपरों को सीज कर बंद करवा दिया था।Mahoba news

महोबा कांड में उगाही के मामले की जांच कानपुर की विजिलेंस यूनिट टीम कर रही है।जांच के दौरान टीम को एक नया मामला संज्ञान में आया।सूत्रों के मुताबिक लखनऊ के एक ट्रांसपोर्टर के कई डंपर कबरई में चलते हैं।जो खदानों व क्रशर पर लगे हुए हैं।Mahoba case

जब मणिलाल पाटीदार एसपी थे तो एक सिपाही ने ट्रांसपोर्टर से संपर्क कर उससे दो लाख की उगाही मांगी थी। उसने कहा था कि रकम एसपी को देनी है। जब ट्रांसपोर्टर ने रकम देने से मना कर दिया तो उसके कुछ ही दिन बाद उसके एक के बाद एक कई ट्रकों को जब्त करवा लिया।विजिलेंस को ये अहम तथ्य मिला है।जांच में इसको शामिल कर लिया है।

बता दें कि महोबा के कबरई में सात सितंबर को क्रशर कारोबाीर इंद्रकांत त्रिपाठी ने वीडियो वायरल कर तत्कालीन महोबा एसपी आईपीएस मणिलाल पाटीदार पर उगाही का आरोप लगाया था। ये भी कहा था कि अगर उनकी हत्या होती है तो मणिलाल ही जिम्मेदार होंगे। दूसरे दिन वो कार में खून से लथपथ मिले थे। गले में उनके गोली लगी थी।इसके बाद 13 सितम्बर को इन्द्रकांत की एक निजी अस्पताल में इलाज़ के दौरान मौत हो गई थी।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।