×
विज्ञापन

हाथरस कांड पर इस वक़्त की सबसे बड़ी ख़बर.बैकफुट पर आई सरकार..राहुल-प्रियंका को हाथरस जानें की अनुमति.कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज.!

विज्ञापन

हाथरस कांड पर अब सरकार की तरफ़ से लगातार डैमेज कंट्रोल की कोशिश जारी है..पहले मीडिया की एंट्री फ़िर लखनऊ से दो बड़े अधिकारी और उसके बाद राहुल प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दे दी गई है..पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

डेस्क:हाथरस कांड पर इस वक़्त की सबसे बड़ी ख़बर आ रही है।यूपी पुलिस ने राहुल गाँधी औऱ प्रियंका गाँधी को हाथरस जाने की अनुमति दे दी है।लेकिन शर्त ये रखी है कि राहुल औऱ प्रियंका सहित कुल पाँच लोग ही हाथरस पीड़ित परिवार से जा मिलने जा पाएंगे।hathras case

ये भी पढ़ें-हाथरस कांड:पीड़ित परिवार के घर पहुँचे ACS होम अवनीश अवस्थी.डीजीपी भी साथ में..अब खुलेगी DM की पोल.!

आपको बता दें कि बीते दिन भी राहुल और प्रियंका गाँधी हाथरस के लिए के लिए निकले थे लेकिन नोएडा में ही यूपी पुलिस द्वारा उनके काफिले को रोक दिया गया था जहां से वह पैदल ही चल पड़े थे लेकिन पुलिस ने कुछ दूर पर ही दोनों नेताओं को कुछ कार्यकर्ताओं के साथ गिरफ्तार कर लिया था और कुछ घंटे बाद वापस वहीं से दिल्ली के लिए रवाना कर दिया था।Hathras rahul gandhi priyanka gandhi

ये भी पढ़ें-हाथरस कांड में बड़ी कार्यवाही.एसपी, सीओ समेत कई पुलिस वाले सस्पेंड..DM, ADM, SDM क्यों बचाए गए.!

राहुल गांधी शनिवार को एक बार फिर दिल्ली से प्रियंका गांधी के सहित हाथरस पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे थे,उनके ऐलान के बाद यूपी बॉर्डर पर भारी पुलिस बल की तैनाती की गई थी लेकिन आज पुलिस द्वारा राहुल और प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दे दी गई ऐसा माना जा रहा है लगातार हो रही यूपी सरकार की किरकिरी के बाद सरकार ने यह फैसला लिया है।

ये भी पढ़ें-हाथरस कांड:प्रशासन झुका.मिली मीडिया को एंट्री..परिवार ने डीएम पर लगाए गम्भीर आरोप..किसकी लाश जलाई गई पता नहीं.!

इसके पहले शनिवार की सुबह राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि-"दुनिया की कोई भी ताक़त मुझे हाथरस के इस दुखी परिवार से मिलकर उनका दर्द बांटने से नहीं रोक सकती।"

हालांकि मिल रही सूचना के अनुसार यूपी बार्डर पर भारी संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद हैं।जिन्हें वहां से हटाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।