×
विज्ञापन

Uttar Pradesh:यूपी पुलिस का दरोगा सिपाहियों संग मिलकर करता लूटपाट, गोरखपुर सर्राफ़ लूटकांड के बाद हुआ खुलासा

विज्ञापन

यूपी के गोरखपुर में बीते 20 जनवरी की रात सर्राफा व्यापारियों के साथ हुई क़रीब 35 लाख की लूट के मामले में जब पुलिस ने खुलासा किया तो सब चौंक गए क्योंकि लुटरे कोई और नहीं खुद पुलिस वाले थे..पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

गोरखपुर:ये ख़बर आप पढ़ेंगे तो पहली बार में आपको यक़ीन नहीं होगा,क्या ऐसा भी हो रहा है अपने उत्तर प्रदेश में लेक़िन ऐसा हो रहा है।गोरखपुर में बीते 20 जनवरी को दो सर्राफ़ा व्यवसाइयों को अगवा कर क़रीब 35 लाख की लूट की गई, ये दोनों व्यापारी महराजगंज ज़िले के रहने वाले थे औऱ गोरखपुर से लखनऊ कैश औऱ सोने चांदी के आभूषण लेकर लखनऊ जा रहे थे।Gorakhpur news

इन्हें रास्ते मे पुलिस की वर्दी पहने तीन लोगों ने छानबीन के नाम से बस से उतारा और ऑटो से अगवा कर ले गए।वे सर्राफा व्यापारियों से 35 लाख का सोना, चांदी और कैश लूटकर फरार हो गए। gorakhpur loot news

विज्ञापन
विज्ञापन

घटना की जानकारी उन्होंने पुलिस को दी,बताया कि लुटरे पुलिस की वर्दी पहने हुए थे, गोरखपुर पुलिस को लगा कि लुटेरों ने घटना को अंजाम देने के लिए शायद पुलिस की वर्दी का प्रयोग किया है।लेकिन लुटरे एक सीटीटीवी कैमरे में भी कैद हुए थे। gorakhpur policemen loot

पुलिस की जाँच जब आगे बढ़ी तो उन्हें तब पता चला कि लुटेरों ने पुलिस की वर्दी नहीं पहनी थी वह सचमुच में लुटेरे ही थे।पुलिस की जाँच में पता चला कि तीनों लुटेरे बस्ती जिले की पुरानी बस्ती थाने में तैनात एसआई धर्मेंद्र यादव, सिपाही महेंद्र यादव और संतोष यादव हैं।पुलिस ने इनके तीन सहयोगियों देवेंद्र यादव, शैलेश यादव औऱ दुर्गेश अग्रहरि को भी गिरफ्तार किया है।up police men loot

विज्ञापन
विज्ञापन

गोरखपुर पुलिस(gorakhpur police)ने तीनों पुलिसवालों को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा कर दिया, तीनो के पास से लूटे गए क़रीब 18 लाख की नगदी समेत सोने चांदी के आभूषण जिनकी कीमत 35 लाख के आसपास है भी बरामद किया है।तीनों आरोपियों को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है और नौकरी से बर्खास्त करने की सिफारिश सरकार को भेजी गई है।इस थाने के 9 और पुलिस वालों को ड्यूटी में लापरवाही के इल्जाम में सस्पेंड कर दिया गया है।Uttar pradesh

एसएसपी गोरखपुर ने बताया कि पूछताछ में तीनों आरोपियों ने कुबूल किया कि वो इससे पहले भी पुलिस की वर्दी में लूटपाट करते रहे हैं। उन्होंने बीते साल 29 दिसंबर को एक और सर्राफा व्यापारी को लूटा था।योगी सरकार ने तीनों पुलिसकर्मियों के विरुद्ध गैंगस्टर के तहत कार्यवाही औऱ एनएसए लगाने का आदेश दिया है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।