×
विज्ञापन

कोरोना:भारत को अब टेस्टिंग के लिए चीन पर निर्भर नहीं रहना होगा..!

विज्ञापन

कोरोना वायरस की जांच करने वाली टेस्टिंग किट अब भारत में बननी शुरू हो गई है..अभी तक टेस्ट किट चीन से भारत को लेना पड़ रहा था..पढ़े पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर।

डेस्क:कोरोना से जूझ रही दुनियां इस पर काबू पाने के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है।कोरोना की जंग को जीतने में टेस्ट का बहुत बड़ा योगदान है।हर देश टेस्ट की गति बढ़ाने में लगा हुआ है।इसके लिए जरूरी है कि टेस्ट किट भी हो।भारत ने भी टेस्ट की गति बढ़ाई है।अब तक भारत टेस्टिंग किट चीन से आयातित करता था।लेक़िन अब भारत ने खुद भारतीय कंपनियों के आपसी सहयोग से इसे बनाना शुरू कर दिया है।

ये भी पढ़े-UP:हमीरपुर में घेरकर मारी गई युवक को गोली..हमलावर फ़रार..!

कोरोना वायरस टेस्ट के लिए संभावित व्यक्ति का सैंपल लेना होता है।यह सैंपल स्वैब से लिया जाता है।अभी तक भारत, चीन से स्वैब लेता था।लेकिन भारत के लिए अच्छी ख़बर ये है कि सैंपल लेने के लिए इस्तेमाल होने वाला यह स्वैब भारत में ही बनने लगा है।

ये भी पढ़े-कोरोना:राहत की ख़बर-फतेहपुर में आज नहीं बढ़े कोरोना के मरीज़..दो और ठीक हुए..!

इसका मतलब ये हुआ कि अब तक जो 'स्वैब' हम चीन से आयात कर रहे थे उसमे सिर्फ़ एक स्वैब की क़ीमत 17रुपए के आस पास आ रही थी।अब एक मुश्किल यह भी थी कि इसके लिए भारत को चीन पर निर्भर भी रहने की मजबूरी बनी रहती थी।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।