मौनी अमावस्या 2020:इस साल बन रहे हैं, विशेष योग..ऐसे करें स्नान तभी होगा लाभ..!

हिन्दू धर्म में मौनी अमावस्या का विशेष महत्व होता है।क्या है इस बार मौनी अमावस्या पर खास..जानें युगान्तर प्रवाह की रिपोर्ट में।

मौनी अमावस्या 2020:इस साल बन रहे हैं, विशेष योग..ऐसे करें स्नान तभी होगा लाभ..!
प्रतीकात्मक फ़ोटो साभार गूगल

डेस्क:हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार वैसे तो प्रति महीने होने वाली अमावस्या का महत्व होता है।लेक़िन साल की कुछ अमावस्या का विशेष महत्व होता है।ऐसी ही एक अमावस्या माघ महीने में होती है।जिसे मौनी अमावस्या के नाम से जाना जाता है। (mauni amavasya kab h

ये भी पढ़े-UP:किसानों के लिए योगी सरकार की सारी योजनाएं फ्लॉप औऱ फ़र्जी हैं-किसान नेता..!

इस साल मौनी अमावस्या 24 जनवरी को है।मौनी अमावस्या पर प्रयागराज के संगम तट पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु डुबकी लगाते हैं। (mauni amavasya shubh muhurt)

शुभ मुहूर्त...

Read More: Navratri Ke Totke Upay: नवरात्रि में अद्भुत है लौंग का ये प्रयोग ! धन की कमी होगी पूरी

मौनी अमावस्या के बारे में ये भी कहा जाता है कि इस दिन मनु ऋषि का जन्म हुआ था और मनु शब्द से ही मौनी की उत्पत्ति हुई है।इसलिए इस अमावस्या को मौनी अमावस्या कहते हैं।

शास्त्रों में लिखा है कि होंठों से ईश्वर का जाप करने से जितना पुण्य मिलता है।उससे कई गुणा अधिक पुण्य मौन रहकर जाप करने से मिलता है। वैसे तो दिन भर मौन रखने की बात कही गई है लेकिन अगर दान से पहले सवा घंटे तक मौन रख लिया जाए तो दान का फल 16 गुना अधिक मिलता है और मौन धारण कर व्रत का समापन करने वाले को मुनि पद की प्राप्ति होती है।

अमावस्या तिथि (mauni amavasya date) का प्रारंभ 24 जनवरी 2020 को भोर पहर 2 बजकर 18 मिनट से लेकर 24 को पूरा दिन तक रहेगी।अगले दिन यानी 25 जनवरी 2020 को भोर पहर 3 बजकर 12 मिनट तक रहेगी।खास बात ये है कि इस बार मौनी अमावस्या ब्रह्म मुहूर्त यानी रात के आखिरी पहर में शुरू हो रही है।इसलिए यही स्नान का सबसे शुभ समय  होगा।24 जनवरी को रात के आखिरी पहर से लेकर आप सूर्यास्त होने से पहले स्नान कर सकते हैं।

स्नान दान विधि...

सुबह या शाम को स्नान के पहले संकल्प लें,पहले जल को सिर पर लगाकर प्रणाम करें फिर स्नान करें साफ कपड़े पहनें और जल में काले तिल डालकर सूर्य को अर्घ्य दें,फिर मंत्र जाप करें और सामर्थ्य के अनुसार वस्तुओं का दान करें,चाहें तो इस दिन जल और फल ग्रहण करके उपवास रख सकते हैं।

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Related Posts

Latest News

Fatehpur News: फतेहपुर के कलयुगी पिता ने बेटियों को बनाया ह'वस का शिकार ! दो साल से करता रहा दु'ष्कर्म Fatehpur News: फतेहपुर के कलयुगी पिता ने बेटियों को बनाया ह'वस का शिकार ! दो साल से करता रहा दु'ष्कर्म
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) में एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है. एक कलयुगी पिता पर उसकी ही...
Fatehpur Local News: फतेहपुर में 6 युवक यमुना में डू'बे ! दो की मौ'त, ग्रामीणों ने 4 को बचाया
Fatehpur Haji Raja News: फतेहपुर में सपा नेता हाजी रजा का विवादित बयान ! पीएम Narendra Modi पर की अभद्र टिप्पणी
Fatehpur Crime News: फतेहपुर में बीच सड़क बैंक कर्मी से जमकर मा'रपीट ! लोगों के रोकने पर भी डंडे से लागतार किया ह'मला
Fatehpur Teacher News: फतेहपुर का फर्जी टीचर पुलिस के हत्थे चढ़ा ! कूट रचित रस्तावेजों के सहारे बना था शिक्षक
Fatehpur Malwan Accident: फतेहपुर में खड़े ट्रक से टकराई डीसीएम ! एक की मौत कई घायल, गैस कटर से काट कर निकालती पुलिस
Fatehpur News Today: फतेहपुर के फूफा ने भतीजी से रचा ली शादी ! पत्नी ने ऐसा पीटा फूफा से निकल गया फू..

Follow Us