×
विज्ञापन

कोरोना ने तोड़ दी मशहूर संगीतकार जोड़ी.नहीं रहे वाज़िद..!

विज्ञापन

बॉलीवुड की कामयाब संगीतकार जोड़ी साज़िद-वाज़िद अब अधूरी रह गई है।जोड़ी के वाज़िद खान का 42 साल उम्र में मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया है।बताया जा रहा है कि वह कोरोना संक्रमित थे..पढ़े युगान्तर प्रवाह की एक रिपोर्ट।

डेस्क:अभिनेता इऱफान खान फ़िर ऋषि कपूर और अब वाज़िद खान का दुनियां छोड़कर जाना बॉलीवुड के लिए एक अपूर्णीय छति है।वाज़िद खान का निधन कोरोना संक्रमण और किडनी की बीमारी के चलते हुआ है।वह क़रीब 42 साल के थे।

ये भी पढ़े-कोरोना:फतेहपुर में दो सगे भाइयों सहित तीन नए पाज़िटिव..!

साज़िद-वाज़िद नाम की यह जोड़ी बॉलीवुड के सफ़लतम संगीतकार जोड़ी में गिनी जाती थी।वाज़िद की मौत के बाद यह जोड़ी अब अधूरी हो गई है।

जानकारी के अनुसार वाज़िद ने क़रीब दो साल पहले अपनी किडनी का ट्रांसप्लांट कराया था।"उनके गले में इंफ़ेक्शन था।वे चेंबूर के सुराना अस्पताल में भर्ती थे।" जहाँ सोमवार देर रात उन्होंने अंतिम सांस ली।

ये भी पढ़े-फतेहपुर:काला दिवस के रूप में पत्रकारों ने मनाया हिंदी पत्रकारिता दिवस..अब होगा जल सत्याग्रह..!

इस बीच वह कोरोना वायरस से संक्रमित भी हो गए थे।किडनी की बीमारी की वजह से उनका इम्युनिटी सिस्टम बेहद ख़राब हो गया था।जिसके चलते कोरोना संक्रमण से उनका शरीर रिकवर नहीं हो सका और मौत हो गई।

सुपरस्टार सलमान खान की 'वॉन्टेड', 'दबंग' और 'एक था टाइगर' जैसी कामयाब फ़िल्मों में मशहूर संगीतकार जोड़ी साजिद-वाजिद का ही संगीत था।इसके अलावा इस जोड़ी ने बॉलीवुड की दर्जनों फिल्मों में संगीत दिया था।वाज़िद संगीतकार के साथ साथ अच्छे गायक भी थे।उन्होंने कई फिल्मों के लिए गाने भी गाये थे।

ये भी पढ़े-फतेहपुर:ख़ाकी पर दाग़-पीड़ित ने पुलिस से लगाई मदद की गुहार.बदले में मिली गाली..ऑडियो वायरल..!

सलमान पर फिल्माया गया 'मेरा है जलवा', 'फेविकोल से' और 'रॉउडी राठौर' अक्षय कुमार पर फिल्माया गया 'चिंता ता चिता चिता' जैसे लोकप्रिय गीत वाजिद ख़ान ने ही गाये थे।

साजिद-वाजिद की जोड़ी ने साल 1998 में 'प्यार किया तो डरना क्या' से अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत की थी और इसके बाद सलमान ख़ान की फ़िल्मों में उनके संगीत का सिलसिला लगातार जारी रहा।इनमें 'गर्व', 'तेरे नाम', 'तुमको ना भूल पाएंगे', 'पार्टनर' जैसी फ़िल्में शामिल हैं।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।