×
विज्ञापन

उन्नाव रेप केस:तत्कालीन डीएम व दो एसपी के विरुद्ध होगी कार्यवाही..सीबीआई जाँच में हुआ खुलासा..!

विज्ञापन

उन्नाव रेप केस की जाँच सीबीआई द्वारा की जा रही है..भाजपा से निकाला गया पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर इस मामले में मुख्य आरोपी सिद्ध हो चुका है..जो उम्र कैद की सजा जेल में काट रहा है..लेकिन इस मामले में अब उन्नाव के तत्कालीन डीएम व दो एसपी भी दोषी पाए गए हैं..पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

लखनऊ:पूरे भारत देश में चर्चा में रहा उन्नाव रेप केस मंगलवार को एक बार फ़िर चर्चा में आ गया।सीबीआई द्वारा जारी केस की जाँच में बड़ा खुलासा हुआ है।घटना के वक़्त उन्नाव में तैनात रहीं तत्कालीन डीएम अदिति सिंह, एसपी पुष्पांजलि व एसपी नेहा पांडेय को सीबीआई ने दोषी करार दिया है। unnao kuldeep singh sengar rape case

ये भी पढ़ें-UP:कोरोना किट घोटाले में कार्यवाही..दो जिलों के डीपीआरओ सस्पेंड..बड़े अधिकारियों को बचाने का खेल शुरू.!

इन तीनों अधिकारियों को सीबीआई ने अपनी जाँच में रेप कांड के मुख्य दोषी कुलदीप सिंह सेंगर की मदद करने और पूरे मामले को दबाने की कोशिश करने के मामले का दोषी पाया है। unnao rape case letest news

तीनों अधिकारियों के विरुद्ध कार्यवाही करने की सिफारिश सीबीआई द्वारा यूपी सरकार से कर दी गई है।वर्तमान में अदिति सिंह हापुड़ ज़िले में डीएम के पद पर तैनात हैं।जबकि पुष्पांजलि एसपी रेलवे गोरखपुर हैं व नेहा पांडेय केंद्रीय प्रतिनियुक्ति में आईबी में तैनात हैं।

ये भी पढ़ें-फतेहपुर:लाखों के माल सहित शातिर चोरों का एक बड़ा गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा..मोबाइल टॉवरों से था कनेक्शन..!

सीबीआई ने अपनी जाँच में पाया है कि उपरोक्त तीनों अधिकारी जब उन्नाव में तैनात थीं तो रेप पीड़िता अलग अलग मौकों पर कई बार अपनी शिकायत लेकर इनसे मिली थी।लेक़िन इन अधिकारियों ने पीड़िता की क़ानूनी मदद करने के बजाए रेप के दोषी कुलदीप सिंह सेंगर की मदद की और उसे मामले में बचाने का प्रयास भी किया।unnao rape case dm and two sp guilty cbi investigation

अब सीबीआई ने अपनी जाँच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के बाद गेंद यूपी सरकार के पाले में डाल दी है।अब देखना होगा योगी सरकार इन तीनों दोषी अफ़सरों के विरुद्ध क्या कार्यवाही करती है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।