×
विज्ञापन

Shabnam case:फ़िलहाल शबनम को नहीं होगी फाँसी जान लें वज़ह

विज्ञापन

सात लोगों के हत्या की दोषी अमरोहा की शबनम(shabnam case)को फाँसी की सज़ा मिली है।राष्ट्रपति की ओर से दया याचिका ख़ारिज होने के बाद फाँसी दिए जाने की तैयारी भी शुरू हो गई थी लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि फिलहाल फाँसी टल जाएगी..पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

लखनऊ:पिछेल कुछ दिनों से शबनम की फाँसी को लेकर चर्चा शुरू है।वही शबनम जिसके सिर पर एक , दो नहीं पूरे सात लोगों के क़त्ल का दोष है।शबनम ने अपने प्रेमी के संग मिलकर जिन सात लोगों की हत्या की थी वह और कोई नहीं उसके ख़ुद के घर वाले थे जिसमें माँ, बाप, भाई, बहन,भाभी,एक छोटा भतीजा शामिल था।Shabnam case

शबनम को फाँसी की सज़ा दी गई है।राष्ट्रपति की ओर से दया याचिका खारिज होने के बाद मथुरा ज़िले में शबनम को फाँसी दिए जाने की तैयारियां शुरू हो गईं थीं।

लेकिन शबनम के अधिवक्ता की ओर से राज्यपाल को दया याचिका दाखिल कर दी गई।फिर से दया याचिका दाखिल होने के कारण फांसी की तारीख मुकर्रर नहीं हो सकी है। shabnam case

शबनम की फांसी को लेकर मंगलवार को जिला जज की अदालत में सुनवाई हुई। पहले ही माना जा रहा था कि जिला जज की अदालत में शबनम की रिपोर्ट सौंपी जाएगी और अगर इस रिपोर्ट में कोई याचिका लंबित नहीं पाई गई तो शबनम की फांसी की तारीख तय की जा सकती है। शबनम के वकील ने कुछ दिन पहले ही फिर से दया याचिका के लिए राज्यपाल से गुहार लगाते हुए जिला जेल रामपुर प्रशासन को प्रार्थनापत्र सौंपा था। आज सुनवाई में इसी का जिक्र आया। इसके कारण फांसी की तारीख मुकर्रर नहीं हो सकी।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।