×
विज्ञापन

UP:जिसे अनामिका शुक्ला बताया जा रहा था..उसका असली नाम कुछ और है..!

विज्ञापन

यूपी के शिक्षा विभाग में इन दिनों जिस अनामिका शुक्ला की चर्चा जोरों से है..उसके बारे में कुछ और खुलासे हुए हैं..ख़ासकर उसके नाम के बारे में..पढ़े पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर।

डेस्क:यूपी में शायद ही कोई बचा हो जिसने बीते कुछ रोज़ो से अनामिका नाम की एक महिला शिक्षक का नाम न सुना हो।एक साथ 25 जिलों के कस्तूरबा गाँधी विद्यालय में तैनात होकर क़रीब एक करोड़ की सैलरी उठा चुकी इन मैडम के बारे में हर रोज नए नए खुलासे हो रहे हैं।

ये भी पढ़े-यूपी की एक सरकारी महिला टीचर ने ऐसी हरक़त की है जिसे आप सपने में भी नहीं सोच सकते..!

जिस अनामिका को पुलिस ने शनिवार को कासगंज से पकड़ा है, उसका असली नाम प्रिया जाटव है। हालांकि, अभी यह खुलासा नहीं हो सका कि, अनामिका शुक्ला और अनामिका सिंह कौन है? जिसके दस्तावेज पर प्रिया जाटव और अनामिका सिंह, अनामिका शुक्ला जैसी 25 लड़कियां नौकरी कर रही हैं।फिलहाल पुलिस पड़ताल में जुटी है।

ये भी पढ़े-UP PCS एग्जाम से जुड़ी बड़ी खबर आई सामने..!

आपको बता दे कि बेसिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय (केजीबीवी) में कार्यरत अनामिका शुक्ला ने एक वर्ष में वेतन के रूप में लगभग एक करोड़ रुपए कमाए। इस दौरान वह एक साथ 25 जिलों में काम करती रहीं और किसी को भनक तक नहीं लगी। विभाग ने जब शिक्षकों का डेटाबेस बनाया तो मामला सामने आया। अब इनके खिलाफ जांच का आदेश दिया गया है। अनामिका शुक्ला को प्रदेश के जिलों में 25 विभिन्न स्कूलों में नियोजित किया गया था। हर जगह से उनके खाते में सैलरी भी आ रही थी।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।