×
विज्ञापन

हाथरस कांड:नहीं बचेंगे हाथरस के दरिंदे..सीबीआई ने दाख़िल की चार्जशीट.!

विज्ञापन

सीबीआई ने अदालत में हाथरस केस की चार्जशीट दाख़िल कर दी है.सीबीआई को जांच में क्या मिला है..पढ़ें युगान्तर प्रवाह की ये रिपोर्ट..

लखनऊ:शुक्रवार को सीबीआई ने हाथरस केस की चार्जशीट अदालत में दाख़िल कर दी।सीबीआइ की टीम की ओर से जांच अधिकारी सीमा पाहूजा ने चार्जशीट दाखिल की।
सीबीआई की तरफ़ से दाखिल चार्जशीट में चारों आरोपितों के खिलाफ सीबीआइ ने सामूहिक दुष्कर्म, हत्या, छेड़छाड़ और एससी-एसटी की धारा में केस बनाया है।

विज्ञापन
विज्ञापन

सीबीआइ ने चार्जशीट में इस मामले में चारों आरोपितों को सामूहिक दुष्कर्म, हत्या, छेड़छाड़ तथा एससी-एसटी एक्ट का आरोपित माना है। इस मामले में सीबीआइ संदीप, लवकुश, रवि व रामू के खिलाफ दो महीने से पड़ताल कर रही थी।

चार्जशीट दाख़िल करने में सीबीआई ने 22 सितंबर को पीड़िता द्वारा दिए गए उसके आखिरी बयान को आधार बनाया है।

उल्लेखनीय है कि हाथरस में दलित लड़की के साथ हुए इस जघन्य वारदात के चार आरोपी तथाकथित ऊंची जाति (ठाकुर) के हैं।मामले को लेकर शुरू से कई तरह की आशंकाएं रहीं हैं।हाथरस जिला प्रशासन औऱ पुलिस की भूमिका पर भी जमकर सवालिया निशान लगे।पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार रात के अंधेरे में हुआ उसको लेकर भी गम्भीर आरोप जिला प्रशासन पर लगे।

इस पूरे प्रकरण में योगी सरकार की भी जमकर किरकिरी हुई थी।विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर रहा।पीड़ित परिवार से मिलने वाले नेताओं का जमावड़ा लगा रहा।कांग्रेस के राहुल और प्रियंका गाँधी भी पीड़ित परिवार से मिलने हाथरस पहुँचे थे।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।