×
विज्ञापन

फतेहपुर:जाँच करने गाँव पहुँचे थे बीडीओ..जमकर हो गई मारपीट..पूरे मामले की जड़ में जेसीबी और प्रधान..!

विज्ञापन

अशोथर थाना क्षेत्र अन्तर्गत एक गाँव में विकास कार्यों की जाँच करने पहुँचे बीडीओ के सामने ही प्रधान पक्ष औऱ विपक्षियों के बीच मारपीट हो गई..जिसमें कई लोग घायल हो गए..पढ़े पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर।

फतेहपुर:ग्राम प्रधान द्वारा जेसीबी से मनरेगा का कार्य कराया गया था।जिसकी शिकायत मजदूरों ने की थी।जेसीबी द्वारा कार्य कराए जाने का वीडियो भी वायरल हुआ था।अधिकारियों के आदेश पर खण्ड विकास अधिकारी जाँच करने पहुँचे थे।जिसके बाद वहाँ मारपीट हो गई।मामला अशोथर थाना क्षेत्र के बेरुई गाँव का है।

ये भी पढ़े-फतेहपुर:काला दिवस के रूप में पत्रकारों ने मनाया हिंदी पत्रकारिता दिवस..अब होगा जल सत्याग्रह..!

जानकारी के अनुसार बीते दिनों बेरुई गाँव में ग्राम प्रधान ललित सैनी द्वारा मनरेगा का कार्य मजदूरों से न कराकर जेसीबी से करवाया गया था।जिसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था।सीडीओ के आदेश पर उक्त वीडियो के सम्बन्ध में जाँच करने के लिए बीडीओ बीते 28 मई को गाँव पहुँचे थे।गाँव पहुँच उन्होंने कहा था कि वायरल वीडियो से बहुत सी बातें स्पष्ट नहीं हो रही हैं।अतः वह मजदूरों से स्वयं पूछकर पूरी सच्चाई जानेंगे इसके लिए उन्होंने अगले दिन यानी 29 मई को दोबारा गाँव आने की बात कही।और वह फ़िर से 29 मई को गांव आए।इस दौरान गाँव के ढ़ेर सारे लोग इकठ्ठा थे।

ये भी पढ़े-फतेहपुर:ख़ाकी पर दाग़-पीड़ित ने पुलिस से लगाई मदद की गुहार.बदले में मिली गाली..ऑडियो वायरल..!

बताया जाता कि जब बीडीओ प्रवीणानन्द ने गाँव वालों से पूछना शुरू ही किया था कि ग्राम प्रधान द्वारा गाँव के ही एक व्यक्ति की कॉलर पकड़ कर मारपीट की गई।प्रधान के इस कृत्य के बाद ही वहां लोग भड़क उठे और फिर दोनों पक्षों में मारपीट होने लगी।लोग तो यहाँ तक कह रहे हैं कि अपनी जाँच से डरे हुए प्रधान ने पहले से ही मारपीट करने की योजना बना ली थी! मारपीट में कुछ लोगों को चोटें भी आई हैं।

ये भी पढ़े-फतेहपुर:पूर्व प्रधान हत्याकांड-इन सवालों के जवाब तलाश कर रही है पुलिस..भाइयों सहित आरोपी बनाए गए वर्तमान ग्राम प्रधान..!

थानाध्यक्ष हेमराज सरोज ने बताया कि ग्राम प्रधान ने चार लोगों के विरुद्ध मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया है।आरोपियों के गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं।दूसरे पक्ष से अभी तहरीर नहीं मिली है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।