×
विज्ञापन

UP:बलरामपुर में गैंगरेप के बाद छात्रा की हत्या..आधी रात को जलाई गई चिता.!

विज्ञापन

यूपी के बलरामपुर में भी हाथरस जैसी घटना घटित हुई है।यहाँ भी एक दलित लड़की को गैंगरेप के बाद हत्या किए जाने का मामला प्रकाश में आया है..पुलिस ने नामज़द दोनों आरोपियों शाहिल व शाहिद को गिरफ्तार कर लिया है..पढ़ें पूरी खबर युगान्तर प्रवाह पर..

बलरामपुर:हाथरस कांड के बाद पूरे देश में आक्रोश औऱ गुस्सा फ़ैला हुआ है।इस बीच बुधवार देर रात बलरामपुर से भी हाथरस जैसी ख़बर सामने आई है।Balrampur news

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यहाँ थाना गैसड़ी के अंर्तगत एक 22 वर्षीय दलित छात्रा की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई है।मृतका की माँ ने मीडिया को बताया है कि उसकी बेटी एडमिशन कराने कॉलेज गई हुई थी जहाँ रास्ते मे कुछ लड़कों द्वारा अपरहण बेटी के साथ गैंगरेप किया गया।फ़िर उसकी हाँथ पैर तोड़ डाले जहर का इंजेक्शन देकर रिक्शा में बैठाकर फ़रार हो गए।Balrampur gang rape

ये भी पढ़ें-हाथरस गैंगरेप:आधी रात को जो हुआ उसने योगी सरकार की छीछालेदर करा दी है..जगह जगह शुरू हैं प्रदर्शन.!

बेटी मरणासन्न हालत में घर पहुँची उसने अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी इलाज़ के लिए अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में उसकी मौत हो गई।Rape in up

पुलिस ने क्या कहा..

एक तहरीर मिली है।22 बरस की एक लड़की के परिजनों के द्वारा।उन्होंने बताया कि लड़की एक प्राइवेट फर्म में काम करती है, और जब वो कल (29 सितंबर) को फर्म में काम करने गई, तो देर शाम तक वापस नहीं आई। परिवारवालों को चिंता हुई, उन्होंने फोन से कॉन्टैक्ट करने की कोशिश की, लेकिन बात नहीं हो पाई। थोड़ी देर बाद लड़की रिक्शे पर घर आई।उसके हाथ में ग्लूकोज चढ़ाने वाला वीगो लगा हुआ था। और उसकी हालत खराब लग रही थी।परिवार वाले तुरंत अस्पताल ले गए, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।परिवारवालों ने अपनी तहरीर में दो लड़कों को नामजद किया है।बताया कि इन लड़कों ने उनकी लड़की को किसी डॉक्टर के पास ले जाकर इलाज कराया है।और उसके साथ बालात्कार किया।जब लड़की की हालत खराब हुई, तो उसे अस्पताल न ले जाकर, घर भेज दिया।पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।आगे कार्रवाई करते हुए जो भी दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।”

ये भी पढ़ें-UP:फतेहपुर में 6 साल की बच्ची के साथ दरिंदगी..हालत नाज़ुक.!

बलरामपुर पुलिस द्वारा यह भी बताया गया है लड़की के हाँथ पैर तोड़ने वाली बात असत्य है।पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि नहीं हुई है।

रात में ही अंतिम संस्कार..

हाथरस की तरह यहां भी लड़की का पोस्टमार्टम हो जाने के बाद शव का अंतिम संस्कार रात में कर दिया गया है।हालांकि पुलिस ने कहा कि अंतिम संस्कार परिवारीजनों ने अपने मर्जी से किया है।

एक मीडिया चैनल से बात करते हुए लड़की के नाना ने कहा है कि-"जो दाह संस्कार हुआ है वो हमारी मर्ज़ी से हुआ है।प्रशासन या शासन का कोई दबाव नहीं था।”


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।