×
विज्ञापन

कानपुर कांड:विकास पर लगातार बढ़ रही इनाम की राशि..पुलिस के हाँथ लग रहे केवल गुर्गे..!

विज्ञापन

विकास दुबे की खोज में लगी टीमों को अब तक सफ़लता हासिल नहीं हुई है।इस बीच शासन स्तर से विकास के ऊपर घोषित इनाम की राशि को बढ़ाकर पाँच लाख कर दिया गया है..पढ़ें युगान्तर प्रवाह की एक रिपोर्ट..

लखनऊ:कानपुर के बिकरु गाँव में आठ पुलिसकर्मियों को दर्दनाक मौत देने का मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर बदमाश विकास दुबे घटना के छः दिन बीत जाने के बाद भी हाँथ नहीं लगा है।विकास पर लगातार इनाम की राशि बढ़ाई जा रही है।अब विकास के ऊपर घोषित इनाम की राशि ढाई लाख से बढ़ाकर पांच लाख कर दी गई है।हालांकि इस बीच विकास के बेहद करीबी गुर्गे लगातार एसटीएफ और पुलिस के हत्थे चढ़ते चले जा रहे हैं।बुधवार भोर पहर विकास के साथ हमेसा साथ रहने वाला और बिकरु कांड का आरोपी वांछित अमर दुबे हमीरपुर के मौदहा में एसटीएफ के हांथो मुठभेड़ में मारा गया है।

ये भी पढ़े-कानपुर कांड:एसटीएफ को मिली बड़ी सफ़लता..विकास दुबे का राइट हैंड हमीरपुर में ढ़ेर..!

इससे पहले मंगलवार को उत्तर प्रदेश का मोस्ट वांटेड क्रीमिनल विकास दुबे पुलिस की गिरफ्त में आते-आते रह गया। खबर है कि वह फरीदाबाद की एक होटल में ठहरा था, लेकिन जब तक पुलिस दबिश देती, वहां से फरार हो गया। अब दिल्ली में अलर्ट किया गया है। फरीदाबाद में विकास दुबे को शरण देने के आरोप में प्रभात मिश्रा और अंकुर को गिरफ्तार किया गया है। दोनों आरोपित विकास दुबे के ही गांव के रहने वाले हैं।

ये भी पढ़ें-कानपुर कांड:घटना के बाद फतेहपुर आया था,विकास दुबे का सबसे भरोसेमंद साथी बब्बन..!

विकास दुबे के फरीदाबाद की होटल से फरार होने की कहानी भी सामने आ गई है। यहां श्री सासाराम होटल के मालिक ने पुलिस को बताया है कि बीती रात करीब 12.30 बजे दो लोग आए। उनमें से एक ने अपना नाम अंकुर बताया। पहचान पत्र मांगने पर एक पेन कार्ड दिखाया, लेकिन साफ नहीं होने के कारण होटल मालिक ने दूसरे आईडी मांगा तो दोनों वहां से भाग खड़े हुए। इसके दो घंटे बाद यूपी पुलिस वहां पहुंची।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।