×
विज्ञापन

गुना:दलितों की पीठ शिवराज की पुलिस ने उधेड़ दी..रोते बिलखते बच्चों की तस्वीरों ने खड़े किए सिस्टम पर सवाल.!

विज्ञापन

मध्यप्रदेश के गुना में किसान दम्पत्ति पर पुलिसिया बर्बरता की तस्वीरों को जिसने भी देखा उसका कलेजा धक से बैठ गया..युगान्तर प्रवाह की ये रिपोर्ट पढ़ें..

डेस्क:पिछले दो दिनों से वायरल हो रही कुछ तस्वीरों और वीडियो ने कृषकों को देवता का दर्जा देने वाले देश के मुँह में वो कालिख़ पोत दी है, जिसके दाग सदियों नहीं छूटेंगे।अपनी फसल को सरकारी सिस्टम के हांथो रौंदते देख किसान दम्पत्ति अधिकारियों के पैरों में गिर पड़े रहे,लेक़िन उनकी कार्यवाही जारी रही,पुलिस की लाठियां भी किसान दम्पत्ति पर बरसने लगीं, अपना सब कुछ लुटता देख पति और पत्नी ने कीटनाशक दवा खा ली और मौक़े पर ही उनकी हालत बिगड़ गई।इसके बाद जो हुआ उसने कठोर से कठोर ह्रदय को भी झकझोर दिया होगा,सिवाय सरकारों और सरकारी सिस्टम में काम करने वाले अधिकारियों के!

ये भी पढ़ें-फतेहपुर:दुकानों को खोलने के सम्बन्ध में आई नई गाइडलाइन..अब ऐसे खुलेंगी दुकानें..!

बेहोश पड़े माता पिता के सिरों को अपने गोद मे रखे अबोध बच्चों की चित्कार ने मानो भारत माता के माथे पर यह लिख दिया हो कि आज़ादी के 70 सालों बाद भी गरीबों की बेबसी और लाचारी को सुनने वाला कोई नहीं है।

यह घटना मध्यप्रदेश के गुना की है।यहां गुना में मॉडल कॉलेज निर्माण के लिए करीब 20 बीघा जमीन जगनपुर क्षेत्र में आवंटित की गई थी।इस जमीन पर कई सालों से एक शख्स ने अतिक्रमण किया हुआ था, जिसे कुछ समय पहले राजस्व और पुलिस की टीम ने मिलकर हटवा दिया था।अतिक्रमण हटाने के बाद भी ज़मीन पर कॉलेज का निर्माण तो शुरू नहीं हुआ लेकिन यहां राजकुमार अहिरवार नाम के व्यक्ति ने खेतीबाड़ी शुरू कर दी।

ये भी पढें-कोरोना:फतेहपुर में कसता जा रहा है संक्रमण का शिंकज़ा..स्वास्थ्य कर्मी सहित चार नए पाज़िटिव..!

मंगलवार को गुना के स्थानीय प्रशासन का दस्ता जेसीबी लेकर यहां पहुंचा और राजकुमार अहिरवार के खेत में बोई जा चुकी फसल पर जेसीबी चलवा दी।ये सब होता देख राजकुमार ने काफी मिन्नत की, उसका कहना था कि इसने यह ज़मीन बटाई में ली है।इस साल की फ़सल काट लेने दीजिए।लेकिन पुलिस की बर्बरता जारी रही।जब कार्रवाई नहीं रुकी तो उसने प्रशासन की टीम के सामने ही कीटनाशक पी लिया। पति को कीटनाशक पीते देख पत्नी में भी उसी बोतल से कीटनाशक पी लिया।इसके बावजूद प्रशासन ने जबरन पिटाई करते हुए दंपति को जीप में बैठाया।किसान दम्पत्ति की हालत गम्भीर है।उनका इलाज सरकारी अस्पताल में चल रहा है।

घटना का वीडियो वायरल होने के बाद चारों तरफ़ शिवराज सरकार की आलोचना होने लगी।आनन फानन में डीएम ,एसपी हटा दिए गए।इस मामले में 6 पुलिसकर्मियों को भी सस्पेंड किया गया है।


युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।