बुलन्दशहर हिंसा:भीड़..!अब जान ले लेती है।

पश्चिमी यूपी में भड़की गोकशी को लेकर हिंसा ने पूरे यूपी को सुलगा दिया,हिंसा ऐसी की एक बहादुर पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की जान चली गई और साथ ही एक स्थानीय नव युवक.. भी अपनी जान गवां बैठा...पढ़े युगान्तर प्रवाह की एक्सक्लुसिव रिपोर्ट....

बुलन्दशहर हिंसा:भीड़..!अब जान ले लेती है।
भीड़

बुलन्दशहर: अचानक कुछ लोग भीड़ की शक्ल में इकट्ठा होते हैं,बवाल बढ़ता है औऱ दो लोग अपनी जान गवां बैठते हैं,ये सब अब बहुत आम हो चुका है अनियंत्रित भीड़ पर अब किसी का जोर नहीं रहा,पिछले कुछ सालों में जिस तरह से अनियंत्रित भीड़ ने न जाने कितने ही लोंगो को अपना शिकार बना डाला ये बेहद ही चिंताजनक है औऱ इंसानियत के लिए कलंक हम कब इंसान से हैवान बन गए हमें पता ही नहीं चला,इंसान की जान जानवरों की जान से भी सस्ती हो गई औऱ हम अभी भी 'वशुधैव कुटुम्ब' का नारा बुलंद करते हैं, लेकिन ये नारा शायद अब भारत के लिए बेमानी है।
बुलन्दशहर हिंसा में भीड़ द्वारा मारे गए बहादुर इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की पत्नी बदहवास है चीख चीख कर इंसानियत से सवाल कर रही है कि मेरे पति का कसूर क्या था,उस पत्नी के दुःख का इलाज क्या भीड़ के पास है..?
तो जवाब होगा नहीं क्योंकि इस असहनीय पीड़ा का इलाज शायद वक्त के अलावा किसी के पास नहीं है.

भीड़ का दूसरा शिकार सुमित कुमार नाम का एक स्थानीय नववुवक हुआ जो अपने भविष्य को लेकर कुछ सपने संजोये था पर उसे क्या पता कि इंसान से हैवान बन चुकी भीड़ उसकी भी जान ले लेगी सुमित की मौत के बाद उसका परिवार गहरे सदमे में हैं, माँ का रो रोकर बुरा हाल है सुमित के घर वालों की मानें तो सुमित की उम्र अभी मात्र 21 वर्ष की थी औऱ यूपी पुलिस में भर्ती होने की तैयारी कर रहा था,वह नोएडा में रहकर पढ़ाई करता था,अभी कुछ रोज पहले ही वह गांव आया था पर उसे क्या पता था कि उसके साथ कुछ ऐसा होगा कि उसका वजूद ही खत्म हो जाएगा।

गौरतलब है कि बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या मामले में पुलिस ने अब तक चार लोगों को गिफ्तार किया है. इस बीच एसआईटी ने भी घटनास्थल का दौरा किया है. हत्या के मामले में 27 लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई है. उसमें पहले नंबर पर बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज का नाम है. बीजेपी युवा स्याना के नगराध्यक्ष शिखर अग्रवाल, वीएचपी कार्यकर्ता उपेंद्र राघव को भी किया नामजद किया गया है. इसके अलावा अन्य 60 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है.
लेकिन सवाल अभी भी वही क्या हम अनियंत्रित होते भीड़तंत्र में लगाम लगा पाएंगे या मौतो का सिलसिला इसी तरह बदस्तूर जारी रहेगा..औऱ हम फ़िर से बस इतना ही कह पाएंगे कि भीड़!अब जान ले लेती है।

Tags:

युगान्तर प्रवाह एक निष्पक्ष पत्रकारिता का संस्थान है इसे बचाए रखने के लिए हमारा सहयोग करें। पेमेंट करने के लिए वेबसाइट में दी गई यूपीआई आईडी को कॉपी करें।

Related Posts

Latest News

Fatehpur News Today: फतेहपुर के पिछड़े गांव का बेटा सेना में बना लेफ्टिनेंट ! किसान पिता के छलके आंसू Fatehpur News Today: फतेहपुर के पिछड़े गांव का बेटा सेना में बना लेफ्टिनेंट ! किसान पिता के छलके आंसू
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) में पिछड़े गांव के संदीप कुमार पाल (Sandeep Kumar Pal) ने NDA की...
Pradeep Mishra Radha Rani Controversy: राधा रानी टिप्पणी पर फंसे कथावाचक प्रदीप मिश्रा ! Premanand Maharaj ने दिया करारा जवाब
NEET 2024 NTA Supreme Court Judgment In Hindi: नीट परीक्षा 2024 के लिए सुप्रीम कोर्ट ने दिया ये निर्णय ! अब बदल जाएगी मेरिट लिस्ट
Fatehpur News: फतेहपुर में नलकूप पर सो रहे किसान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत ! पास में पड़ीं थीं बोतले, शरीर नीला था
Fatehpur Local News: फतेहपुर में ट्रक की टक्कर से दो की मौ'त ! रात भर रौंदते रहे वाहन
Modi Cabinet 3.O List 2024: नरेंद्र मोदी के कैबिनेट में किसको मिला कौन सा मंत्रालय ! यूपी के इस नेता को मिली महत्वपूर्ण जगह
Fatehpur News: फतेहपुर में पेशाब के बहाने बदमाश ने तान दी रायफल ! बीसी संचालक से लूट में तीन हुए गिरफ्तार

Follow Us