हरतालिका तीज 2020 :जानें पूजा का शुभ मुहूर्त औऱ सम्पूर्ण पूजा विधि..!

21 अगस्त को पूरे भारत देश में हरतालिका तीज का त्योहार मनाया जा रहा है..इस दिन सुहागिन महिलाएं सदा सुहागिन रहनें के लिए व कुँवारी लड़कियां योग्य व सुंदर वर की कामना के लिए निर्जला व्रत रखतीं हैं..पढ़ें युगान्तर प्रवाह की एक रिपोर्ट..

डेस्क:हरतालिका तीज का व्रत 21 अगस्त को पूरे देश में मनाया जा रहा है।सुहागिन महिलाएं व कुँवारी लड़कियों ने व्रत रखा हुआ है।यह व्रत निर्जला रखा जाता है।शाम को पूजा होती है।

पूजा का शुभ मुहूर्त..

इस दिन माता पार्वती और भगवान शंकर की पूजा अर्चना की जाती है। इस दिन निर्जला रहकर भोलेशंकर की आराधना करने से महिलाओं को अखंड सौभाग्य का भी लाभ मिलता है।तीज पूजन का शुभ मुहूर्त शाम को 6:54 से लेकर रात 9:06 बजे तक है।

पूजा के दौरान रखें इन बातों का ध्यान..

इस बात का ध्यान रखें कि हरितालिका तीज पर तृतीया तिथि में ही पूजन करना चाहिए। तृतीया तिथि में पूजा गोधली और प्रदोष काल में की जाती है। चतुर्थी तिथि में पूजा मान्य नहीं, चतुर्थी में पारण किया जाता है।hartalika teej puja vidhi

नवविवाहिताएं पहले इस तरह को जिस तरह रख लेंगी हमेशा उन्हें उसी प्रकार इस व्रत को करना होगा। इसलिए इस बात का ध्यान रखना है कि पहले व्रत से जो नियम आप उठाएं उनका पालन करें। अगर निर्जला ही व्रत रखा था तो फिर हमेशा निर्जला ही व्रत रखें। आप इस व्रत में बीच में पानी नहीं पी सकते।

ये भी पढ़ें-Hartalika Teej 2020:सुहागन और कुंवारी कन्याएं रखती हैं व्रत..जानें तिथि,शुभ मुहूर्त और पूजा विधि..!

तीज व्रत में अन्न, जल, फल 24 घंटे कुछ नहीं खाना होता। इसलिए इस व्रत का श्रद्धा पूर्वक पालन करना चाहिए।तीज का व्रत एक बार आपने शुरू कर दिया है तो आपको इसे हर साल ही रखना होगा। अगर किसी साल बामीर हैं तो व्रत छोड़ नहीं सकते। ऐसे में आपको उदयापन करना होगा, या अपनी सास, देवरानी को देना होगा।hartalika teej 2020

इस व्रत में भूलकर भी सोना नहीं चाहिए। इश  व्रत में सोने की मनाही है। व्रती महिलाओं को रातभर जागकर भगवान शिव का स्मरण करना चाहिए।इस दिन खुद तो सोलह श्रृंगार करने होते हैं साथ ही सुहाग का सामान सुहागिन महिलाओं को वितरित भी करना होता है।

Chhath Puja:हर तरफ़ छठ पूजा की धूम.आज है तीसरा दिन..डूबते सूरज को दिया जाएगा अर्घ्य.!
Loading...
Comment As:

Comment (0)

-->