क्या तीन हिस्सों में बंटने जा रहा है उत्तर प्रदेश..जान लें इस ख़बर की सच्चाई..!

पिछले कुछ दिनों से यूपी को तीन हिस्सों में बंटने की खबर वायरल हो रही..पहले यह एक स्टोरी की शक्ल में वायरल हो रही थी लेक़िन हाल ही में कुछ दिनों से यह ख़बर एक पत्र नुमा कागज़ में छपी हुई वायरल हो रही है..क्या है इस खबर की सच्चाई..युगान्तर प्रवाह की इस रिपोर्ट में जान लें..

डेस्क:यूपी तीन हिस्सों में बंटने जा रहा है।मतलब अब उत्तर प्रदेश को तीन अलग अलग राज्यों में सरकार बाटेंगी!इनके नाम होंगे उत्तर प्रदेश,पूर्वांचल और बुंदेलखंड।
इन तीनो की राजधानियां भी क्रमशः लखनऊ, गोरखपुर और प्रयागराज होंगी!

ऐसा दावा किया जा रहा है एक वायरल लिस्ट में जो इस समय धड़ल्ले से फेसबुक, व्हाट्सएप और ट्वीटर पर वायरल हो रही है।इस सूची में यूपी के जिला मुख्यालयो को तीन अलग अलग हिस्सों में बांटकर लिखा गया है।

ये भी पढ़े-फतेहपुर:तंगहाली में जीते हुए जिंदगी की जंग हार गया एक और शिक्षामित्र..न बेटी का ब्याह कर सका और न ही अपनी बीमारी का इलाज.!

इस वायरल लिस्ट में यह भी दावा किया गया है कि यूपी के कुछ ज़िलों को उत्तराखण्ड, दिल्ली और हरियाणा में शामिल करने की योजना बनाई गई है और इसकी घोषणा जल्द ही की जाएगी।

बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार यह खबर पूरी तरह से निर्रथक और झूठ है।और वायरल हो रही लिस्ट पूरी तरह से फ़र्जी।राज्य या केंद्र सरकार यूपी को तीन हिस्सों में बांटने की तैयारी नहीं कर रही है और न ही सरकार ने कोई मसौदा तैयार किया है।

ये भी पढ़े-Big Breaking:केंद्रीय मंत्री को यूनिवर्सिटी के छात्रों ने बनाया बंधक..स्थिति तनावपूर्ण!

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस लिस्ट के बारे में यूपी के सीएम योगी के सूचना सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने बताया कि "उत्तर प्रदेश के बँटवारे की कोई योजना नहीं है।यूपी सरकार के सामने इस तरह का कोई प्रस्ताव नहीं है।सोशल मीडिया पर इससे संबंधित जो भी ख़बरें घूम रही हैं, वो फ़र्ज़ी हैं।लोग ऐसी अफ़वाहों पर ध्यान ना दें।"

वहीं भारत के गृह मंत्रालय की ओर से एक वरिष्ठ अधिकारी ने भी इस बात से इनकार किया कि 'यूपी के बँटवारे की कोई योजना' बनाई गई है।

उन्होंने कहा,"केंद्र सरकार के सामने ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं आया है। सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही लिस्ट फ़र्ज़ी है।

बड़ा हादसा-नाव पलटने से 10 से ज़्यादा लोगों की मौत..नाव में सवार थे आधा सैकड़ा लोग..!
Loading...
Comment As:

Comment (0)

-->