AyodhyaJudgment:हैरान करने वाले हैं यूपी में नौ नवम्बर के आंकड़े..अधिकारियों को ख़ुद नहीं हो रहा विश्वास.!

अयोध्या मामले पर बीते नौ नवम्बर को फैसला आया था।यूपी पुलिस फैसले को लेकर पूरी तरह से मुस्तैद थी।अब एक चौकाने वाला आंकड़ा सामने आया है..जाने पूरी ख़बर युगान्तर प्रवाह पर।

लखनऊ:पुलिस जब सख़्त रैवया अपनाती है तो अपराध ख़ुद ब खुद कंट्रोल हो जाता है।इसका ताज़ा उदाहरण है यह हैरान करने वाली रिपोर्ट।

ये भी पढ़े-अयोध्या में राम मंदिर बनने को लेकर 27 साल से उपवास कर रहीं हैं उर्मिला..जानें 87 वर्षीय उर्मिला की कहानी.!

दरअसल अयोध्या में राम मंदिर-बाबरी मस्जिद के फैसले वाले दिन एक रिकॉर्ड दर्ज किया गया है। आंकड़ों की माने तो फैसले वाले दिन उत्तर प्रदेश में कहीं भी किसी भी प्रकार की हत्या, लूट, अपहरण, बलात्कार या डकैती की वारदात नहीं हुई है। इसकी जानकारी जब डीजीपी मुख्यालय के अधिकारियों को हुई तो उन्हें इस बात पर यकीन नहीं हुआ। हैरत की बात यह है कि राज्य के 75 जिलों से एक भी आपराधिक घटनाएं सामने नहीं आई।

ये भी पढ़े-अयोध्या फैसला:आ गई फ़ैसले की घड़ी..सभी राज्यों में एलर्ट जारी..सोमवार तक के लिए स्कूल कालेज बन्द..!

अधिकारियों ने जब जोन वार 9 नवम्बर के दिन के आपराधिक आंकड़े जुटाने शुरू किए तो एक हैरान करने वाली बात सामने आई।क्योंकि इस दिन पूरे प्रदेश में अपराध की घटनाएं शून्य दर्ज की गई थीं।इसके बाद अधिकारियों को फिर भी विश्वास नहीं हो रहा था उन्होंने दोबारा रिकॉर्ड देखे इस बार भी नतीजा शून्य ही आया।

ये भी पढ़े-Big Breaking:अयोध्या ज़मीनी विवाद पर आ गया फ़ैसला..रामलला को दी गई ज़मीन..जानें फ़ैसले से जुड़े कुछ प्रमुख तथ्य..!

आपको बता दे कि अयोध्या फैसले को लेकर यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह स्वयं मोर्चा सम्भाले हुए थे।हर एक ज़िले की बारीकी के साथ निगरानी हो रही थी।जगह जगह पुलिस बल की तैनाती थी।यूपी पुलिस ने हर वो सम्भव प्रयास किया था जिससे ला एंड ऑर्डर की स्थित पूरे प्रदेश में ठीक बनी रही।और जब 9 नवम्बर के आकंड़े आए तो यह बात सिद्ध हो गई है कि यूपी पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर बेहतरीन तैयारी की थी।

फतेहपुर:बियर की दुकान पर जमकर हुई मारपीट..हर शाम लगता है नशेड़ियों को जमावड़ा..!
Loading...
Comment As:

Comment (0)

-->